ममता बनर्जी के मुंबई दौरे का दूसरा दिनः पवार के साथ ही ‘इस’ बड़े नेता से होगी मुलाकात?

ममता बनर्जी अपनी पार्टी टीएमसी का दायरा राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ाने के लिए प्रयासरत हैं। इस दिशा में कदम बढ़ाते हुए वे पिछले कुछ दिनों से देश के विभिन्न राज्यों का दौरा कर रही हैं।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के तीन दिवसीय मुंबई दौरे का 1 दिसंबर दूसरा दिन है। उनके साथ उनके भतीजे और तृणमूल कांग्रेस पार्टी सांसद अभिषेक बनर्जी भी हैं। 30 नवबंर को महाराष्ट्र के पर्यावरण मंत्री और युवा सेना नेता आदित्य ठाकरे से मिलने के बाद वे 1 दिसंबर को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शदर पवार से मुलाकात करेंगी। हालांकि बिना कांग्रेस के विपक्षी दलों को एकजुट करने की कोशिश में लगी ममता बनर्जी को निराश करने वाली बात राकांपा प्रवक्ता नवाब मलिक ने कही है। मलिक ने कहा है कि बिना कांग्रेस के विपक्षी एकता संभव नहीं है।

राकांपा ने दिया झटका
राकांपा नेता और महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक मंत्री नवाब मलिक ने 30 नवंबर को कहा कि पवार हमेशा से विपक्षी पार्टियों को एकजुट होने पर जोर देते रहे हैं। लेकिन कांग्रेस के बिना यह संभव नहीं है। मलिक ने कहा कि जब महाराष्ट्र में शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस एक साथ आ सकती है, तो टीएमसी भी कांग्रेस को सहयोग कर सकती है। उनके बीच अगर किसी तरह का मतभेद है, तो उसे सुलझाया जा सकता है।

पार्टी का दायरा बढ़ाने के लिए प्रयासरत
ममता बनर्जी अपनी पार्टी टीएमसी का दायरा राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ाने के लिए प्रयासरत हैं। इस दिशा में कदम बढ़ाते हुए वे पिछले कुछ दिनों से देश के विभिन्न राज्यों का दौरा कर रही हैं। इस दौरान वे राजनेताओं से मिलकर उनके दिल की बात भी जानना चाह रही हैं।

सिद्धिविनायक मंदिर में किए दर्शन
पहले दिन के दौरे पर उन्होंने मुंबई के प्रसिद्ध मंदिर सिद्धिविनायक में दर्शन किए। बताया जा रहा है कि उन्होंने भगवान गणेश से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के उत्तम स्वास्थ्य की कामना की। इसके साथ ही ममता बनर्जी ने 26/11 के मुंबई हमले में हुतात्मा हो गए पुलिस कांस्टेबल तुकाराम ओंबले को भी श्रद्धांजली दी।

ये भी पढ़ेंः तो देश का दूसरा विभाजन अटल है – रणजीत सावरकर ने चेताया

इनसे मिलीं ममता
टीएमसी प्रमुख ने 30 नवंबर को शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे और संजय राउत से मुलाकात की थीं। हालांकि उनका यह दौरा विशेष रुप से उद्धव ठाकरे से मुलाकात को लेकर है, लेकिन उनके बीमार होने के कारण उनके बेटे आदित्य ठाकरे ने उनसे मुलाकात की। चर्चा यह भी है कि वे 1 दिसंबर को पवार के साथ ही उद्धव ठाकरे से भी मिल सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here