बरेली में कांग्रेस नेता बोलीं, ‘वैष्णो देवी में जब हो सकती है भगदड़ तो यहां तो लड़कियां ही हैं’

उत्तर प्रदेश में सभी राजनीतिक पार्टियां मतदाताओं को रिझाने में एंड़ीचोटी का बल लगा रही हैं। कांग्रेस इस समय अपने खोए जनाधार को वापस बटोरने के प्रयत्न में है।

कांग्रेस ने बरेली में मैराथॉन का आयोजन किया था, जिसमें बड़ी संख्या में बालिकाओं ने हिस्सा लिया। जैसे ही रेस शुरू हुई, अग्रिम पंक्ति की बालिकाएं अचानक गिर पड़ीं। इसमें कई बच्चियों को चोटें आई हैं। पुलिस ने इस दुर्घटना की जांच शुरू कर दी है।

चुनाव के सिलसिले में मतदाताओं को रिझाने में कोई दल इस समय पीछे नहीं है। कांग्रेस ने बरेली में ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’ को घोषवाक्य के अंतर्गत मैराथॉन का आयोजन किया है। जिसमें बालिकाओं की अग्रिम पंक्ति पर भारी भीड़ के कारण दबाव बढ़ गया और वह गिर पड़ीं। इस दुर्घटना में घायल कई बालिकाओं को अस्पताल ले जाया गया। जिनमें से से कुछ को गंभीर चोटें आई थीं।

ये भी पढ़ें – मणिपुर में मोदीः विपक्ष पर बोला हमला, “कुछ लोग सत्ता के लिए…!”

कांग्रेस का विचित्र तर्क
इस घटना पर कांग्रेस की पूर्व महापौर सुप्रिया एरोन ने कहा है कि, इसमें चिंता की बात नहीं है। जब वैष्णो देवी में भगदड़ मच सकती है, तो यहां तो बालिकाएं ही थीं। यह मानव आचरण है। फिर भी हम इसके लिए माफी मांगते हैं।

घर में कोरोना फिर भी बेखबर, कांग्रेस के विरुद्ध षड्यंत्र
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का परिवार कोरोना संक्रमित हो गया है। इसेक कारण वे इस समय चुनाव पूर्व प्रचार अभियान से लौट गई हैं। परंतु, इसके बाद भी पार्टी कोविड-19 संक्रमण को लेकर गंभीर नहीं है, या उसे जनता के स्वास्थ्य की चिंता नहीं है। अति तो ये है कि, कांग्रेस अपनी स्वार्थ पूर्ति के लिए टीका सुरक्षा से रहित बच्चों का वह उपयोग कर रही है। उसके मैराथॉन के आयोजन लगातार चल रहे हैं। इस पर कांग्रेस की पूर्व महापौर सुप्रिया एरोन ने मीडिया से बात करते हुए आरोप लगाया है कि, यह कांग्रेस पार्टी के विरुद्ध षड्यंत्र भी हो सकता है।

बरेली में 4 जनवरी, 2022 को आयोजित मैराथॉन के पहले 28 दिसंबर, 2022 को लखनऊ में महिलाओं के लिए पांच किलोमीटर लंबी मैराथॉन आयोजित की गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here