कोरोना से डॉक्टर लगाएंगे बेड़ा पार… उत्तर प्रदेश में भाजपा का बड़ा उपहार

राज्य में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्ववाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने डॉक्टरों के रिटायरमेंट को लेकर बड़ी घोषणा की है। सरकार ने डॉक्टरों की रिटायरमेंट की आयु 65 वर्ष से बढ़ा दी है। विधान सभा चुनावों से पहले यह योगी सरकार की बड़ी भेंट मानी जा रही है।

उत्तर प्रदेश सरकार डॉक्टरों की रिटायरमेंट आयु सीमा 70 करने के लिए शीघ्र ही प्रस्ताव लाएगी। इससे प्रदेश में डॉक्टरों की कमी को कुछ सीमा तक नियंत्रित किया जा सकता है। सरकारी की ओर से कहा गया है कि इस निर्णय का लाभ कोरोना महामारी से लड़ने में भी होगा। इससे अनुभवी डॉक्टरों की सेवाएं अस्पतालों में मिल पाएंगी।

ये भी पढ़ें – कैप्टन की वो धमकी, क्या टूट जाएगी कांग्रेस?

ये कहना है सरकार का
राज्य के स्वास्थ्य शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना ने बताया कि, रिटायरमेंट के बाद डॉक्टर निजी क्लीनिक खोल लेते हैं। इससे अच्छा है कि वे लोगों की सेवा करें। इसलिए हमने ये प्रस्ताव बनाया है। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी अनुमति दे दी है शीघ्र ही कैबिनेट में पास किया जाएगा।

लोक संकल्प पत्र के वादे पूरे
एक निजी चैनल से बात करते हुए मंत्री सुरेश खन्ना ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने कार्यकाल में लोक संकल्प पत्र के सभी वादों को पूरा किया है। देश के बड़े राज्यों के रूप में उत्तर प्रदेश ने कोरोना संक्रमण को लेकर भी बड़ी सफलता प्राप्त की है। राज्य के 35 जिले कोविड-19 संक्रमण मुक्त हैं। टीकाकरण के मामले में बी देश के अन्य राज्यों से उत्तर प्रदेश आगे है। राज्य की 50 प्रतिशत जम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here