चीनी नागरिकों को भारत ने किया इस सुविधा से वंचित! ये देश भी नहीं उठा पाएंगे लाभ

भारत के लिए हर-तरह की परेशानी पैदा कर रहे चीन को भारत ने करारा जवाब दिया है। चीन के साथ ही कई अन्य देशों को भी भारत ने कड़ा संदेश दिया है।

सीमा पर तनाव पैदा करने के साथ ही भारत के लिए हर तरह से परेशानी पैदा कर रहे चीन को भारत ने करारा जवाब दिया है। भारत 15 नवंबर से 152 देशों के लिए दोबारा ई-विजा सुविधा बहाल करेगा। लेकिन इस बार चीन, हॉन्ग-कॉन्ग और मकाऊ जैसे देशों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। जबकि ताइवान, वियतनाम, सिंगापुर और अमेरिका समेत 152 देश इसका लाभ उठा सकेंगे।

चीन के साथ ही कनाडा, ब्रिटेन, मलेशिया, इंडोनेशिया और सऊदी अरब को इस सूची से बाहर रखा गया है। इन देशों द्वारा भारत के साथ कई बार असहयोग का रुख अपनाने के कारण इस सूची से इन्हें बाहर कर दिया गया है। इससे पहले चीन के साथ ही कुल 171 देश इस सूची में शामिल थे।

चीन को सबक
भारत ने चीन को इस सुविधा से बाहर रखने का निर्णय पूर्वी लद्दाख में उसके द्वारा अपनाए जा रहे अड़ियल रुख को लेकर लिया है। इसके साथ ही चीन अरुणाचल प्रदेश में भी तरह-तरह से तनाव बढ़ाने का काम कर रहा है, जबकि उसने उत्तराखंड में अपने सैनिकों की घुसपैठ कराकर भी भारत की चिंता बढ़ाई है।

पहले दी गई थी यह सुविधा
बता दें कि इससे पहले चीनी पर्यटकों को प्रायर कैटेगरी में छूट देते हुए चीन को ई-वीजा की सुविधा पाने वाले 171 देशों में रखा गया था। चीन के साथ ही अफगनिस्तान, पाकिस्तान, इराक, सुडान और पाकिस्तानी मूल के विदेशी नागरिकों को भी पीआरसी के तहत छूट दी गई थी। हालांकि मार्च 2020 में कोरोना महामारी के कारण लागू प्रतिबंधों के बाद सभी तरह के ई-वीजा पर रोक लगा दी गई थी।

ये भी पढ़ेंः दिल्ली डायलॉगः भारत की बड़ी जीत,पाक और चीन चित! जानें, कैसे?

पहले जारी किए वीजा निलंबित
गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशानिर्देश के अनुसार 6 अक्टूबर से पहले जारी किए गए ई-वीजा और सामान्य टूरिस्ट वीजा अभी निलंबित रहेंगे। साथ ही जारी होने के 120 दिनों के भीतर एकल प्रवेश के लिए उपयोग किए जाने वाले नए वीजा जारी किए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here