जश्न रंधावा के घर और चन्नी चुन लिए पंजाब के सीएम!

आखिर पंजाब के नए मुख्यमंत्री का नाम तय हो गया है। उन्हें पंजाब कांग्रेस विधायक दल का नेता चुन लिया गया है। यह जानकारी पार्टी के पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने दी है।

पंजाब के नए मुख्यमंत्री का नाम तय हो गया है। कांग्रेस के पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने इस बारे में ट्वीट कर जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि चरणजीस सिंह चन्नी पंजाब के नए मुख्यमंत्री होंगे। इससे पहले बताया गया था कि निर्णय थोड़ी देर में होने की संभावना है। हरीश रावत ने ट्विटर पर लिखा कि चन्नी को पंजाब कांग्रेस विधायक दल का नेता चुन लिया गया है। वे 20 सितंबर को 11 बजे शपथ ग्रहण करेंगे।

चरणजीत सिंह चन्नी 2007 से विधायक हैं और चमकौर साहिब सीट से विधायक हैं। वे कैप्टन अमरिंदर सिंह के कैबिनेट में भी मंत्री थे। सुखजिंदर सिंह रंधावा ने चन्नी को पंजाब के मुख्यमंत्री बनने पर बधाई दी है। उन्होंने चन्नी को अपना छोटा भाई बताया है। कांग्रेस नेता अजय माकन ने भी चन्नी को पंजाब के मुख्यमंत्री बनाए जाने की जानकारी दी है।

रंधावा के घर में जश्न और चन्नी बन गए मुख्यमंत्री
इससे पहले कांग्रेस नेता सुखजिंदर सिंह रंधावा को पंजाब के मुख्यमंत्री बनाए जाने की जानकारी दी गई थी और उनके समर्थक जश्न भी मनाने लगे थे। वे रंधावा को बधाई देने के लिए उनके घर पहुंचने लगे थे, लेकिन अचानक पाासा पलट गया औह चरणजीत सिंह चन्नी को पार्टी विधायक दल का नेता चुन लिया गया।

अंबिका सोनी ने ठुकरा दिया था ऑफर
इससे पहले  कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद पंजाब में अगला सीएम कौन बनेगा, इस बात की चर्चा पंजाब की गली से देकर दिल्ली तक जारी थी। इस बीच कई नाम सामने आ रहे थे। इस बीच खबर आई कि पूर्व केंद्रीय मंत्री अंबिका सोनी को मुख्यमंत्री का ऑफर दिया गया था, लेकिन उन्होंने एक महत्वपूर्ण सुझाव के साथ इस ऑफर को ठुकरा दिया था।

इनके नामों पर थी चर्चा
सीएम की दौड़ में सबसे आगे पंजाब इकाई के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ के चलने की बात कही जा रही थी। इनके साथ ही प्रदेश के नवनियुक्त पार्टी अध्यक्ष और कैप्टन के कट्टर विरोधी नवजोत सिंह सिद्धू के साथ ही पूर्व मंत्री सुखविंदर सिंह रंधावा, तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा, ब्रह्म मोहिंद्रा, विजय इंदर सिंगला, पंजाब कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कुलजीत सिंह नागरा आदि नामों की भी चर्चा थी।

अंबिका सोनी ने दिया था सुझाव
मीडियाकर्मियों से बात करते हुए अंबिका सोनी ने माना था कि उन्हें पंजाब के सीएम पद का ऑफर दिया गया था, लेकिन उन्होंने उस ऑफर को बड़े सम्मान के साथ ठुकरा दिया। इसके साथ ही उन्होंने पार्टी को यह सुझाव दिया कि पंजाब का मुख्यमंत्री कोई सिख ही होना चाहिए। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मेरा मानना है कि पंजाब का सीएम कोई सिख चेहरा ही होना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश में एक ही प्रदेश है, जहां किसी सिख को सीएम बनाया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here