सीबीआई के राडार पर आए ‘बाबुल’ के वह ‘बाबू’

मोदी 1.0 सरकार में केंद्रीय राज्यमंत्री रहे बाबुल सुप्रियो अब तृणमूल कांग्रेस के विधायक हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में मंत्री पद न मिलने पर भाजपा छोड़ दी थी।

केंद्रीय पर्यावरण विभाग के भ्रष्टाचार के एक मामले में जांच कर रहे केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की टीम ने हाल ही में इस मंत्रालय के मंत्री पद से हटे बाबुल सुप्रियो के पीए के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

दर्ज हुई प्राथमिकी
केंद्रीय एजेंसी के सूत्रों ने सोमवार को बताया है कि भ्रष्टाचार के मामले में प्राथमिकी दर्ज हुई है जिसमें टेंडर दिलाने के नाम पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें बाबुल सुप्रियो के पीए सहित तीन लोगों के नाम प्राथमिकी दर्ज हुई है। विभाग का टेंडर दिलाने के नाम पर करोड़ों रुपये का हेर-फेर किया गया है।

ये भी पढ़ें – एनआईए की बड़ी कार्रवाई! नवाब मलिक का करीबी सुहैल खंडवानी गिरफ्तार

बढ़ेंगी बाबुल की दिक्कतें
माना जा रहा है कि इस प्राथमिकी के बाद बाबुल सुप्रिया की भी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। प्रदेश भाजपा के नेता भी दबी जुबान बाबुल सुप्रियो को भी इस मामले में संलिप्त बता रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि टेंडर के नाम पर ली गई राशि का बड़ा हिस्सा सुप्रियो को दिया गया है इसीलिए केंद्रीय एजेंसियां पिए से पूछताछ के बाद बाबुल सुप्रियो से भी पूछताछ कर सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here