धनतेरस पर कैप्टन ने किया अपनी पार्टी के नाम का ऐलान! जानिये, क्या होगा उनका अगला कदम

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह काफी दिनों से कांग्रेस से नाराज चल रहे थे। उन्होंने अक्टूबर में अपनी नई पार्टी बनाने की घोषणा तो कर दी थी, लेकिन उसका नाम नहीं बताया था।

पंजाब कांग्रेस में विवाद तो अभी भी जारी है, लेकिन उस विवाद का पहला परिणाम आ गया है। पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अब आधिकारिक रुप से कांग्रेस से अलग हो गए हैं। उन्होंने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को सात पन्नों का पत्र लिखकर अपने इस्तीफे के साथ पार्टी के लिए अपने कार्यकाल में किए गए काम का भी हिसाब दिया है। कैप्टन ने धनतेरस के शुभ अवसर पर अपनी पार्टी के नाम की घोषणा कर अपनी आगे की रणनीति स्पष्ट कर दी है। उनक पार्टी का नाम पंजाब लोक कांग्रेस है।

जाते-जाते भी सिद्धू पर साध गए निशाना
कैप्टन ने पार्टी अध्यक्ष को लिखे पत्र में अपना दर्द बयां किया है। उन्होंने लिखा है “मेरे बार-बार विरोध और पंजाब में सभी पार्टी सांसदों के संयुक्त परामर्श के बावजूद आपने एक ऐसे व्यक्ति को पंजाब कांग्रेस का मुखिया बना दिया है, जिसने पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल बाजवा और प्रधान मंत्री इमरान खान को खुलेआम गले लगाया था। सीमा पार से देश में आतंकियों को भेजने के लिए बाजवा और इमरान खान जिम्मेदार हैं। वे भारतीयों की हत्या के लिए जिम्मेदार हैं।”

ये भी पढ़ेंः उपचुनाव परिणाम… भाजपा-कांग्रेस के लिए कहीं खुशी कहीं गम, शिवसेना, आईएनएलडी को बड़ा लाभ

आगे की रणनीति
पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह काफी दिनों से कांग्रेस से नाराज चल रहे थे। उन्होंने अक्टूबर में अपनी नई पार्टी बनाने की घोषणा तो कर दी थी, लेकिन उसका नाम नहीं बताया था। उन्होंने उस समय कहा था कि वे 2022 में पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के साथ ही अकाली से अलग हुए समान विचार वाले गुटों के साथ मैदान में उतरेंगे। हालांकि उन्होंने स्पष्ट कर दिया था कि वे भाजपा से गठबंधन कृषि कानूनों के संतोषजनक समाधान होने के बाद ही करेंगे। पार्टी के नाम की घोषणा करने के बाद वे अपनी इन घोषणाओं को अमली जामा पहनाने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ सकते हैं, क्योंकि चुनाव के लिए बहुत ज्यादा समय नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here