टीपू सुल्तान के नाम पर बवाल… पालक मंत्री के कारनामे पर सरकार मौन

टीपू सुल्तान को हिंदू संगठन द्रोही और क्रूर कर्मा मानते हैं। जिस प्रकार से उसका एक विशेष समुदाय द्वारा महिमा मंडन किया जाता है, उसके उलट टीपू सुल्तान को हिंदुओं पर अत्याचार करनेवाले, धर्मांतरण करवानेवाला माना जाता है।

मुंबई के मालवणी क्षेत्र में टीपू सुल्तान के नाम पर मैदान किये जाने का बड़ा विरोध हो रहा है। इसके बाद भी इस मैदान का उद्घाटन कार्यक्रम गणतंत्र दिवस पर रखा गया था। भाजपा, विहिंप और संघ ने इसके विरोध में मुख्यमंत्री तक से गुहार लगाई है। लेकिन विरोध का उत्तर प्रत्यारोपों से देकर मुंबई शहर के पालक मंत्री अस्लम शेख अपने मिशन टीपू को जारी रखे हुए हैं।

ये भी पढ़ें – वंदे मातरम्! माइनस 30-40 डिग्री तापमान पर फहराया गया तिरंगा

भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने चारकोप पुलिस थाने के समक्ष प्रदर्शन किया। इसमें टीपू सुल्तान के नाम पर मैदान का नामकरण करने का मुद्दा उठाया गया, इसके अलावा मालवणी परिसर में हिंदुओं को परेशान करने का आरोप भी भाजपा की ओर से लगाया गया। हिंदुओं के मुद्दे को लेकर भाजपा मुंबई की ओर से लंबे काल से मालवणी पुलिस थाने में शिकायत की जाती रही है। अब टीपू सुल्तान के नाम पर मैदान का नामकरण किये जाने के मुद्दे पर हिंदू संगठनों का आक्रोष फूट गया है।

संघ परिवार का प्रदर्शन
गणतंत्र दिवस के दिन टीपू सुल्तान मैदान का उद्घाटन होना था। इस कार्य को स्थानीय विधायक, पालक मंत्री अस्लम शेख के द्वारा किया जाना था। नामकरण को लेकर भाजपा, बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ताओं ने उद्घाटन के पहले ही विरोध प्रदर्शन किया।

तब तक चलता रहेगा आंदोलन
मालाड के मालवणी परिसर में बने खेल मैदान को टीपू सुल्तान का नाम दिया जाना दुखद है। जब तक स्थानीय विधायक और पालक मंत्री अस्लम शेख द्वारा किया गया नामकरण अवैध है, यह महाविकास आघाड़ी सरकार घोषित नहीं करती तब कर आंदोलन जारी रहेगा।

मंगल प्रभात लोढ़ा – अध्यक्ष, भाजपा मुंबई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here