भाजपा संसदीय दल की बैठकः प्रधानमंत्री ने इन स्वदेशी अनाजों और खेलों को बढ़ावा देने पर दिया जोर

भाजपा संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री ने बाजरा के माध्यम से पोषण अभियान को बढ़ावा देने के तरीके सुझाए।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 20 दिसंबर को भाजपा संसदीय दल की बैठक में अंतरराष्ट्रीय मोटा अनाज वर्ष-2023 के मद्देनजर ज्वार-बाजरा जैसे मोटे अनाज को बढ़ावा देने के लिए देश में जनआंदोलन चलाने का आह्वान किया। साथ ही प्रधानमंत्री ने सांसदों से खेलों को बढ़ावा देने पर भी जोर दिया।

भाजपा संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री ने बाजरा के माध्यम से पोषण अभियान को बढ़ावा देने के तरीके सुझाए। संसदीय समिति ने अंतरराष्ट्रीय मोटा अनाज वर्ष पर जी-20 देश के मेहमानों को बाजरे के व्यंजन खिलाने का फैसला लिया गया। प्रधानमंत्री ने कहा कि सांसद बाजरे को बढ़ावा देने के लिए अपनी बैठकों में मोटे अनाज से बने भोजन परोस सकते हैं। उन्होंने कहा कि देश में 85 प्रतिशत से अधिक किसान बड़ी संख्या में बाजरा उगाते हैं। ऐसे में मोटे अनाज की खपत बढ़ने से उन्हें आर्थिक मदद मिलेगी।

कबड्डी जैसे भारतीय खेलों को बढ़ावा देने पर जोर
बैठक में प्रधानमंत्री ने कबड्डी जैसे भारतीय खेलों को बढ़ावा देने पर भी जोर दिया। उन्होंने सांसदों से अपील की कि वे कबड्डी जैसे भारतीय खेलों पर विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ सालों में स्पोर्ट्स मीट की मेजबानी भाजपा की पहल रही है।

यूएन ने 2023 को किया अंतरराष्ट्रीय बाजरा वर्ष के रूप में घोषित
भाजपा संसदीय दल की बैठक के बाद संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सबसे अहम बात यह है कि भारत सरकार के अनुरोध पर संयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने 2023 को अंतरराष्ट्रीय बाजरा वर्ष के रूप में घोषित किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने बैठक में इस मामले पर 2 पहलू दिए। पहला, हम बाजरे के माध्यम से चल रहे पोषण अभियान को बढ़ावा दे सकते हैं। दूसरा, प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि जी-20 मेहमानों के लिए डिनर या जहां भी संभव हो, बाजरे की चीजें रखी जा सकती हैं ताकि वे बाजरा के महत्व को समझ सकें।

तवांग मुद्दे पर विपक्ष की आलोचना
अरुणाचल प्रदेश के तवांग में एलएसी पर भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हालिया झड़प के मुद्दे पर सरकार संसद में विपक्षी सांसदों की आलोचना का सामना कर रही है। ऐसे में एक सप्ताह के अंतराल में भाजपा सांसदों की यह दूसरी बैठक थी। इससे पहले भाजपा ने 14 दिसंबर को संसदीय दल की बैठक बुलाई थी।

ये नेता रहे उपस्थित
बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री एस जयशंकर, संसदीय मामलों के मंत्री प्रह्लाद जोशी और प्रमुख सांसदों सहित अन्य लोगों ने भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here