आक्रोशित ‘नारायण’: अब खोलेंगे उनके एक-एक राज… उस नेता को भी दे दी चेतावनी

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बीच इशारो-इशारो में वाक् युद्ध चल रहा है।

नारायण राणे ने रत्नागिरी से अपने जन आशीर्वाद यात्रा का पुनरप्रारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने एक बार फिर अपने रंग में उतरते हुए टिप्पणियां शुरु कर दी हैं। उन्होंने कुछ राज की बात भी जनसामान्य से साझा की। इसमें एसिड अटैक से लेकर हत्या के प्रकरणों तक का उल्लेख उन्होंने किया।

नारायण राणे ने कहा दो वर्ष हो गए पुराने प्रकरण खोज रहे हैं, परंतु नहीं मिले। हमें भी पुराने प्रकरण पता हैं। रमेश मोरे की हत्या कैसे हई? उसका कारण क्या है? इसके बाद राणे ने कहा अपने ही भाई की पत्नी पर ऐसिड अटैक करने को किसने कहा था उस बच्चे को? कैसा संस्कार है? अपने भाई की पत्नी पर एसिड फेंका। ऐसे प्रकरण अब मैं एक-एक करके निकालूंगा। बहुत सारा मसाला है, मैं 39 वर्ष साथ में रहा हूं, अगली बार पूर्व विधायक, सांसद दवा के लिए भी नहीं रहेंगे।

इसे मराठी में पढ़ें – पुन्हा आला तर वरुण माघारी जाणार नाही! नारायण राणेंचा इशारा

मुख्यमंत्री ने किया था हमला
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एक मीडिया हाउस के कार्यक्रम में कोरोना के वायरस का उल्लेख किया और बोलते-बोलते कुछ पुराने वायरस का भी इलाज करने की बात बोल गए। इसे नारायण राणे पर अपरोक्ष हमला माना जा रहा था। लेकिन इसके एक दिन बाद उसी शैली में नारायण राणे ने उसका उत्तर दिया।

सुशांत का प्रकरण समाप्त नहीं हुआ
नारायण राणे ने कहा सुशांत की हत्या हुई, दिशा सालियन का बलात्कार करके हत्या हुई। ऐसे बहुत से प्रकरण हैं। नारायण राणे के पीछे मत पड़ो नहीं तो भारी पड़ेगा। मैं इतना बड़ा अपराधी था तो मुख्यमंत्री बनाया ही कैसे? कई वर्षों तक मंत्री रहा।

साहेब की सुरक्षा के लिए कौन साथ था?
नारायण राणे ने साहेब (बालासाहेब ठाकरे) पर आतंकी खतरे का उल्लेख करते हुआ कहा कि उस समय सुरक्षा के लिहाज से उन्होंने मातोश्री छोड़ने को कहा था। उस समय सुपुत्र साथ नहीं थे।

ये भी पढ़ें – सिद्धू के सलाहकार ने छोड़ा पद! इनसे बताया अपनी जान को खतरा

वरुण को चेतावनी
हमारे घर के सामने वरुण सरदेसाई आए। जो हमारे घर पर हमला करता है उसकी गिरफ्तारी नहीं होती। क्या वो रिश्तेदार है? जितना नेताओं को भी सुरक्षा नहीं होती उतनी सुरक्षा उसे मिली है। वो मार खाया, इतना पुलिस रहने के बाद भी वहां के युवकों ने खूब पीटा। हमारे घर पर कोई आएगा तो हम छोड़ेंगे नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here