भाजपा का मुंबई में मास्टर स्ट्रोक और संजय को काशी फल गई!

महाराष्ट्र की एक सीट के लिए भाजपा ने उम्मीदवार घोषित कर दिया है, जबकि कांग्रेस में अभी अस्पष्टता है।

मुंबई मनपा चुनावों के पहले भाजपा ने राज्य सभा उम्मीदवारी के लिए बड़ा दांव खेला है। संजय उपाध्याय के रूप में एक उत्तर भारतीय को भाजपा ने राज्य सभा का उम्मीदवार घोषित किया है। इसको लेकर उत्तर भारतीय नेताओं में खुशी है। संजय उपाध्याय काशी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनाव प्रचार में भी शामिल रहे हैं।

बनारस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनाव प्रचार में संजय उपाध्याय सह-प्रमुख थे। उनके पास प्रवासी उत्तर भारतीय मतदाताओं से संपर्क और मतदान में हिस्सा लेने की सुनिश्चितता की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। जिसे उन्होंने पूरी निष्ठा से पूरा किया।

ये भी पढ़ें – रूस की पर्म यूनीवर्सिटी में फायरिंग, इमारत से ऐसे कूदे छात्र.. देखें वीडियो

स्वच्छ छवि
संजय उपाध्याय भाजपा के जमीनीस्तर के कार्यकर्ता रहे हैं, युवा मोर्चा में कार्यकर्ता रहे, पदाधिकारी बने, भाजपा में वॉर्ड अध्यक्ष बने और उसके बाद संगठन की सीढ़ियां एक-एक कर चढ़ते गए। इन वर्षों में पार्टी ने जो कुछ जिम्मेदारी दी उसे निभाया। उनकी छवि बेदाग रही है, इसके कारण उन्हें संघठनात्मक दायित्वों में बड़ी जिम्मेदारियां मिलती रही हैं।

उत्तर भारतीय नेताओं में हर्ष
संजय उपाध्याय का चयन राज्य सभा चुनावों के लिए किये जाने से उत्तर भारतीय नेताओं के खेमे में खुशी है। बड़े दिग्गजों और तिकड़मी नेताओं को पीछे छोड़कर एक उत्तर भारतीय को उम्मीदवारी दिये जाने से कार्यकर्ता प्रोत्साहित महसूस कर रहे हैं। भाजपा नगरसेवक और मुंबई मनपा में ग्रुप लीडर विनोद मिश्रा ने संजय उपाध्याय का अभिनंदन किया है।

भाजपा नेता संजय शर्मा ने भी संजय उपाध्याय की उम्मीदवारी पर खुशी जाहिर की है। उन्होंने कहा है कि, संजय उपाध्याय को राज्यसभा पद की उम्मीदवारी दिया जाना, इस योग्य पद के लिए योग्य व्यक्ति का चयन है। इसके साथ ही यह नि:स्वार्थ भाव से पार्टी की सेवा करनेवाले कार्यकर्ताओं का सम्मान है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here