भाजपा का आरोप, ‘रोहिंग्या-बांग्लादेशियों की मददगार केजरीवाल सरकार’

जहांगीर पुरी दंगे के प्रकरण को लेकर भारतीय जनता पार्टी आक्रामक हो गई है। भाजपा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर रोहिंग्या और बांग्लादेशियों को लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया है। दिल्ली पुलिस से मांग की है कि, जहांगीर पुरी दंगे में आम आदमी पार्टी की भूमिका की जांच होनी चाहिए।

पीआईएल पर उत्तर क्यों नहीं
दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से प्रश्न किया है कि, रोहिंग्या और बांग्लादेशियों की घुसपैठ को लेकर प्रकरण न्यायालय में लंबित है। इस पर दिल्ली सरकार को अपना जवाब दायर करना है, परंतु मुख्यमंत्री की सरकार पांच वर्षों से यह नहीं कर रही है। दिल्ली सरकार का यह व्यवहार ठीक उसी प्रकार का है, जैसा वह कन्हैया कुमार के प्रकरण में रहा है। दिल्ली सरकार से यही प्रश्न है कि, वो कब तक न्यायालय में अपना जबाव दायर करेंगे?

दंगों में आम आदमी पार्टी की क्या थी भूमिका?
दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि, हमने पुलिस कमिश्नर से मुलाकात कर उन्हें सुझाव दिए हैं कि, इस पूरे मामले की जांच दो तरह से जरूर करें। इस दंगे में आम आदमी पार्टी के कौन-कौन शामिल हैं? इसके पहले दिल्ली में जो भी दंगे हुए थे उसमें आम आदमी पार्टी के पार्षद, नेता और कार्यकर्ता ही मास्टरमाइंड निकले थे। जहांगीरपुरी की शोभायात्रा में किये गए पथराव में जो लोग पकड़े गए हैं, उनमें अंसार का कनेक्शन भी आम आदमी पार्टी से ही है।

ये भी पढ़ें – जम्मू में जेहादी उपदेशक बने यूपी और हैदराबाद के कठमुल्ले

ऐसे लोगों को जनता ने छोड़ा
आदेश गुप्ता ने कहा कि, चाहे 1984 के दंगे हों या 1966 में संतों पर गोली चलाना, कश्मीर घाटी हो, मेरठ, मुरादाबाद, भागलपुर या फिर हुबली में कराए गए दंगे हों, इसके माध्यम से जाति-धर्म वाली राजनीति जिसने भी की और जनता को विभाजित करने की कोशिश की, आज जनता ने उन्हें दरकिनार कर दिया है। आज आम आदमी पार्टी को समझना होगा कि देश में चाहे कांग्रेस हो या वामपंथी हों, जिन्होंने भी दंगे कराने की कोशिश की आज उनका हश्र सबके सामने है और दिल्ली में दंगों के जो भी गुनाहगार पकड़े जाते हैं, उन्हें आम आदमी पार्टी के बड़े नेताओं का संरक्षण प्राप्त होता है।

युवाओं को अवसर चाहिए
पुलिस के द्वारा त्वरित कार्रवाई करने की जगह दोषियों की गिरफ्तारी पर सवाल उठाना भी संदेह के दायरे में आता है। उन्होंने कहा कि, आज का युवा बाधा नहीं अवसर चाहता है, विभाजन नहीं विकास चाहता है। लेकिन पिछले कुछ दिनों से देश को विभाजित करनेवाली शक्तियां सक्रिय होकर देश की राजधानी दिल्ली में जिस तरह से दंगे करवाकर लोगों को धर्म एवं जाति के नाम पर बांटने की कोशिश कर रही हैं, उसमें उनको कभी कामयाबी नहीं मिलने वाली है।

रोहिंग्या बांग्लादेशियों को मुफ्त का माल
आदेश गुप्ता ने कहा कि दिल्ली पुलिस को बदनाम करने के लिए केजरीवाल ने सोची समझी साजिश के तहत पुलिसवालों पर हमला करवाया है, लेकिन दिल्ली पुलिस दंगाइयों के सामने दीवार बनकर खड़ी हो गई और बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया। वोट बैंक की राजनीति करनेवाली आम आदमी पार्टी रोहिंग्या-बांग्लादेशियों को संरक्षण दे रही है, उन्हें मुफ्त में बिजली, पानी और राशन दे रही है और हमने पुलिस कमिश्नर से इस कनेक्शन की जांच करने की भी मांग की है।

दंगाई रोहिंग्या और बांग्लादेशी ही
नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि, शोभा यात्रा पर जिन दंगाइयों ने हमला किया वे सभी रोहिंग्या-बांग्लादेशी हैं, आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता हैं। इन लोगों को केजरीवाल सरकार ने आधार कार्ड तक बनाकर दिया है। इन लोगों पर संगीन मुकदमे दर्ज हैं, केजरीवाल सरकार का संरक्षण प्राप्त होने के साथ-साथ इन्हें आर्थिक मदद भी दी जाती है। दिल्ली के उपराज्यपाल से हमारी मांग है कि इनका आधार कार्ड रद्द किया जाए और इन्हें मिलनेवाले मुफ्त राशन, बिजली, पानी को भी बंद किया जाए। बुजुर्ग पेंशन रद्द करने के साथ-साथ इनका वोटर लिस्ट से नाम भी हटाया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here