गोपालगंज विधानसभा उपचुनाव 2022ः जानिये, प्रशासन की कैसी है तैयारी

गोपालगंज विधानसभा उपचुनाव के लिए सभी मतदान केंद्रों पर कड़ी निगरानी रखने के लिए गश्ती दल टीम के साथ ही फ्लाइंग स्क्वायड की टीम की भी तैनाती की गई है।

गोपालगंज विधानसभा के उप चुनाव को शांतिपूर्ण, भयमुक्त वातावरण में संपन्न कराने के लिए जिला प्रशासन द्वारा व्यापक स्तर पर इंतजाम किए गए हैं।

सभी मतदान केंद्र पर 6 कर्मियों की प्रतिनियुक्ति के साथ भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है ताकि मतदान को शांतिपूर्ण संपन्न कराया जा सकें। 3 नवंबर को होने वाले मतदान के लिए चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल को तैनात किया गया है। हर 5 से 10 मिनट के अंतराल पर जोनल सुपर जोनल मजिस्ट्रेट्स की गाड़ी प्रत्येक मतदान केंद्र से होकर गुजरेगी।

निर्भिक मतदान के लिए प्रशासन कृतसंकल्प
मतदाताओं काे निर्भिक मतदान करने को लेकर जिला प्रशासन कृतसंकल्प है। इसके लिए 9 ड्रोन कैमरा से निगरानी की जाएगी। इस दौरान गड़बडी करने वाले की पहचान कर तुरंत कार्रवाई की जा सकें। डीएम सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी डॉ नवल किशाेर चौधरी,उप निर्वाचन पदाधिकारी डॉ शशि कुमार राय, वरीय उप समाहर्ता राहुल कुमार सिंह ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि 16 कंपनी अर्द्वसैनिक बल के साथ बड़ी संख्या में पुलिस जवानों काे चुनाव कराने में लगाया गया है।

असामाजिक तत्वों पर कड़ी कार्रवाई
डीएम ने कहा शांतिपूर्ण व निष्पक्ष मतदान कराने के लिए थाना क्षेत्रों में असामाजिक तत्वों, बदमाशों, हुड़दंग मचाने वालों को चिन्हित कर कार्रवाई की गई है। मतदान कार्य में जुटे अधिकारी व पुलिस अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि ऐसे लोग जो चुनाव बाधित कर सकते हैं या हंगामा करते पाए जाते है तो उन पर कार्रवाई करें। हर हाल में चुनाव निष्पक्ष व शांतिपूर्ण कराना है। सभी संवेदनशील व अतिसंवेदनशील बूथों पर बड़ी संख्या में पुलिस जवान तैनात किए गए हैं।

महिला और दिव्यांग मतदान केन्द्र की व्यवस्था
उन्होंने बताया कि विधानसभा उपचुनाव के दौरान मतदान केंद्रों पर सुरक्षा व्यवस्था लेकर अधिकारियों व पुलिसकर्मियों की तैनाती के अलावा मतदान कर्मियों की तैनाती कर ली गई है। जिसमें महिला मतदान केन्द्र और दिव्यांग मतदान केन्द्र भी बनाए गए है। विभागीय स्तर पर चुनाव में शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए जोन व सुपर जोन बनाए गए हैं। चुनाव को लेकर 330 मतदान केंद्रों की निगरानी रखने को लेकर 42 सेक्टर,20 सुपर जोनल, 4 अतिरिक्त सुपर जोनल, 10 त्वरित कार्रवाई दल के साथ डीएम-एसपी, डीएसपी-एसडीओ की टीम काम करेगी। उन्होंने बताया कि 6 लेयर में सुरक्षा व्यवस्था की गई है। चुनाव के दौरान जोन, सुपर जोन व सेक्टर के अलावा पेट्रोलिंग पार्टी सभी मतदान केंद्रों की निगरानी रखेगी। मतदान के दौरान संबंधित पदाधिकारी अपने इलाके के मतदान की स्थिति तथा वहां होने वाली तमाम गतिविधियों की जानकारी वरीय अधिकारियों को उपलब्ध कराएंगे। अलावा इसके जिला स्तर पर स्थापित किया गया नियंत्रण कक्ष लगातार कार्य करेगा। जहां से पूरे जिले की स्थिति पर नजर रखी जाएगी।

गंडक नदी में नाव पर पुलिस बल तैनात
उन्होंने बताया कि दियारा इलाके की निगरानी के लिए गंडक नदी में नाव पर पुलिस बल को भी तैनात किया जाएगा। इसके लिए एक कंपनी पुलिस बल जिले में है। जिसे चुनाव के पहले नदी के किनारे फ्लैग मार्च किया जाएगा। साथ ही वैसे मतदान केंद्र जो गंडक नदी के आसपास के इलाके में मौजूद हैं, वहां की सुरक्षा व्यवस्था के लिए गंडक नदी के इलाके में नाव से लगातार पेट्रोलिंग की जाएगी।

फ्लाइंग स्क्वायड की टीम की भी तैनाती
सभी मतदान केंद्रों पर कड़ी निगरानी रखने के लिए गश्ती दल टीम के साथ ही फ्लाइंग स्क्वायड की टीम की भी तैनाती की गई है। निर्वाचन विभाग ने सेक्टर पदाधिकारियों की तैनाती के साथ ही कम्यूनिकेशन प्लान बनाने का निर्देश जारी किया है। सेक्टर क्षेत्र के सभी आंगनबाड़ी सेविका व सहायिका, बीएलओ, विकास मित्र, पंचायत सचिव, पंचायत रोजगार सेवक, ग्राम कचहरी सचिव को सेक्टर टीम में शामिल किया गया है। जिसका डेटाबेस बनाया गया है। वहीं सुरक्षा को लेकर अर्द्धसैनिक बल के जवानों को लगाया गया है। जिसकी भी तैनाती किया जा रहा है। इसके अलावा सेक्टर पदाधिकारी व फ्लाइंग स्क्वायड की टीमें भी लगातार मतदान के दिन भ्रमणशील रहेगी। चुनाव में शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए जोन तथा सुपर जोन गठित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here