विवादों में फंसे बंगाल के मुख्य सचिव हुए रिटायर! दीदी ने दिया ये इनाम

केंद्र और बंगाल सरकार के बीच सैंडविच बने प्रदेश के मुख्य सचिव अलापन बंदोपध्याय 31 मई को सेवानिवृत हो गए हैं। बंदोपाध्याय को केंद्र सरकार की ओर से 28 मई को दिल्ली ट्रांसफर किया गया था।

विवादों में फंसे बंगाल के मुख्य सचिव अलापन बंदोपध्याय 31 मई को सेवानिवृत हो गए हैं। उन्हें मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का मुख्य सलाहकार नियुक्त किया गया है।

बंदोपाध्याय को केंद्र सरकार की ओर से 28 मई को दिल्ली ट्रांसफर किया गया था। उन्हें 31 मई को सुबह 10 बजे केंद्रीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग के कार्यालय में रिपोर्ट करनी थी, लेकिन वे दिल्ली नहीं गए थे और सीएम ममता के साथ बैठक कर रहे थे। यास चक्रवात को लेकर मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक में उन्होंने भाग लिया था।

बंदोपाध्याय पर केंद्र थी की वक्रदृष्टि
बता दें कि पीएम की बैठक में अलापन बंदोपाध्याय आधा घंटे देर से पहुंचे थे और पीएम को उनके आने का इंतजार करना पड़ा था। इस कारण केंद्र की वक्रदृष्टि उन पर पड़ गई थी। उनका केंद्र में ट्रांसफर कर दिया गया था और 31 मई को उन्हें दिल्ली में तलब किया गया था। लेकिन ममता बनर्जी ने उन्हें रिलीज करने से मना कर मोदी सरकार से एक बार फिर पंगा ले लिया था।

ये भी पढ़ेंः झुका ट्विटर! आईटी नियमों पर कही ये बात

कैबिनेट मंत्री चंद्रिका उपाध्याय ने कही थी ये बात
ममता बनर्जी की कैबिनेट मंत्री चंद्रिका उपाध्याय ने कहा था कि मुख्यमंत्री मुख्य सचिव अलापन बंदोपाध्याय को रिलीज नहीं कर रही हैं।

दीदी ने लिखा था पत्र
इस बीच ममता बनर्जी ने अपने पत्र में 28 मई को कुलाईकुंडा में हुई उस बैठक का भी जिक्र किया था, जिसमें मुख्य सचिव आधा घंटा लेट पहुंचे थे और पीएम को उनका इंतजार करना पड़ा था। सीएम ने कहा था कि अगर बंदोपाध्याय का ट्रांसफर इस कारण किया गया है तो यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है।

ये भी पढ़ेंः वसीम रिजवी ने लिखा, इसमें वह आयतें नहीं इसे पढ़ाने की अनुमति दें!

की थी केंद्र की आलोचना
ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर कहा था कि वह मुख्य सचिव को रिलीज नहीं करेंगी। सीएम ने पत्र में कहा था कि केंद्र सरकार ने मुख्य सचिव के ट्रांसफर पर एकतरफा निर्णय लिया है,जो गलत है। दीदी और पीएम मोदी के बीच में फंसे अलपान बंदोपाध्याय की परेशानी बढ़ती हुई दिख रही थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here