तेजिंदर बग्गा को फिर मिली राहत, अब इस तारीख तक गिरफ्तारी पर रोक

पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय ने पंजाब पुलिस को निर्देश दिए कि वह बग्गा के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई नहीं करे।

पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय ने दिल्ली भाजपा के नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को राहत प्रदान करते हुए पांच जुलाई तक गिरफ्तारी पर रोक लगा दी। उच्च न्यायालय ने पंजाब पुलिस को निर्देश दिए थे कि वह बग्गा के खिलाफ 10 मई तक दंडात्मक कार्रवाई न करे।

मोहाली में मामला दर्ज
पंजाब में सत्ता परिवर्तन के बाद दिल्ली के भाजपा नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी की थी। इस टिप्पणी के बाद उनके खिलाफ मोहाली में मामला दर्ज किया गया है।

ये भी पढ़ें – खालिस्तान समर्थक पन्नू का कायराना खेल होगा खत्म? हिमाचल पुलिस ऐसे कस रही है शिकंजा

पुलिस के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज
छह मई को उस समय हंगामा हुआ, जब पंजाब पुलिस बग्गा को गिरफ्तार करने के लिए दिल्ली पहुंच गई और उन्हें हिरासत में ले लिया। दिल्ली पुलिस द्वारा पंजाब पुलिस के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर लिया गया। पंजाब पुलिस जब बग्गा को लेकर चंडीगढ़ आ रही थी तो रास्ते में कुरुक्षेत्र पुलिस ने उन्हें रोक लिया। इसे लेकर कई घंटे तक हाई वोल्टेज ड्रामा चला और दिल्ली पुलिस ने तेजिंदर पाल को पंजाब पुलिस के कब्जे से छुड़वा लिया। इस बीच सात मई को मोहाली के न्यायालय ने बग्गा के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया। मोहाली के न्यायालय ने 23 मई तक बग्गा को न्यायालय में पेश करने के निर्देश जारी किए ।

उच्च न्यायालय ने लगाई गिरफ्तारी पर रोक
मोहाली की पुलिस इस कार्रवाई के कुछ घंटे बाद पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय ने 10 मई तक तेजिंदर पाल की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी। 10 मई को इस मामले की सुनवाई करते हुए पंजाब-हरियाणा उच्च न्यायालय ने बग्गा को 5 जुलाई तक राहत दे दी है।

बग्गा के खिलाफ एफआईआर दर्ज 
बग्गा के वकील ने कहा कि मामला सियासी रंजिश का है। अरविंद केजरीवाल के खिलाफ जिस वीडियो को लेकर बग्गा के खिलाफ एफआआर दर्ज की गई है, वह वीडियो तोड़ मरोड़कर पेश किया गया है। वहीं पंजाब के एडवोकेट जनरल ने इस याचिका का विरोध करते हुए इसे रद्द करने की मांग की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here