अयोध्या जमीन खरीदी मामलाः इन नेताओं पर दायर किया जा सकता है मानहानि का मुकदमा!

रामनगरी अयोध्या में श्री रीम मंदिर परिसर में जमीन खरीदी में घोटाले के आरोप लगाए जाने के मामले पर खुलकर राजनीति की जा रही है। अब मंदिर ट्रस्ट की ओर से इस मुद्दे पर इस तरह के आरोप लगाने वाले नेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की दिशा में कदम उठाने की तैयारी शुरू कर दी गई है।

रामनगरी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए जमीन खरीदी को लेकर पिछले कई दिनों से राजनीति गरमाई हुई है।समाजवादी कांग्रेस पार्टी और आम आदमी पार्टी के साथ ही कांग्रेस तथा शिवसेना ने भी इस जमीन खरीदी में घोटाले का आरोप लगाया है।

सबसे पहले यह आरोप आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने लगाया था। उसके बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने भी इसे गंभीर मामला बताते हुए भाजपा पर निशाना साधा। हालांकि इस आरोप को श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के साथ ही विश्व हिंदू परिषद ने बेबुनियाद बताया है। ट्रस्ट ने इसका पूरा ब्योरा पेश करते हुए इस आरोप को सिरे से खारिज कर दिया है। लेकिन इसे देश की कुछ पार्टियां राजनीतिक रंग देने की कोशिश में हर दिन बयानबाजी कर रही हैं।

मुकदमा दायर करने की तैयारी
अब मंदिर ट्रस्ट की ओर से इस मुद्दे पर इन नेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की दिशा में कदम उठाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। इसके लिए ट्रस्ट और वीएचपी कानूनविदों से राय-सलाह ले रहे हैं। बहुत जल्द ही राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा के साथ ही संजय सिंह समेत अन्य पार्टी नेताओं के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया जाएगा।

वीएचपी ने कही ये बात
विश्व हिंदू परिषद के कार्याध्यक्ष और वरिष्ठ अधिवक्ता आलोक कुमार ने कहा है कि राजनेताओं ने ट्रस्ट की छवि को नुकसान पहुंचाने का प्रयास किया है। उसे देखते हुए भारतीय दंड संहिता की धारा 499 और 500 के तहत इनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया जा सकता है। इस धारा के तहत दो वर्ष के कैद का प्रावधान है। उन्होंने कहा कि इस मामले में दीवानी मामले में मानहानि के आधार पर क्षतिपूर्ति का भी दावा किया जा सकता है। इस बारे में विचार किया जा रहा है। मंदिर निर्माण में विध्न डालेनावले नेताओं को क्षमा नहीं किया जाएगा।

ये भी पढ़ेंः राकांपा के पास मुंबई को देखने की फुर्सत नहीं! फिर कौन करेगा नेतृत्व?

साधु-संतों ने आरोप को बताया बेबुनियाद
इस बारे में महामंडलेश्वर, जूना अखाड़ा के स्वामी अवधेशानंद ने कहा है कि इस पवित्र अभियान पर विवाद पैदा करना दुर्भाग्यपूर्ण है। इस प्रकार के दुष्प्रचार में कुछ कुत्सित मानसिकता के लोगों की स्वार्थपूर्ति दिखाई पड़ती है।

ये भी पढ़ेंः अयोध्या में जमीन खरीदी में नहीं हुआ घोटाला! ट्रस्ट के दावे में इसलिए है दम

संजय सिंह का आरोप
इससे पहले आप सांसद संजय सिंह ने 15 जून को आरोप लगाया था कि दोपहर 12 बजे उनके सरकारी आवास में कुछ लोग जबरदस्ती घुस आए। उन्होंने आरोप लगाया कि वे उन्हें जान से मारने के लिए उनके घर दाखिल हुए थे। आप सांसद ने कहा कि उन्होंने उनके घर के बाहर लगी नेमप्लेट पर कालिख पोत दी और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया। उस समय उनके गर उपस्थित लोगों ने दो लोगों को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया है।

ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में मराठा तो अन्य राज्यों में भी भड़कती रही है कई समुदायों के आरक्षण की आग!

जमीन खरीदी में आरोप
संजय सिंह का आरोप है कि अयोध्या में राम मंदिर परिसर में जो जमीन 2 करोड़ में खरीदी गई थी, उसी जमीन को बाद में 18.5 करोड़ में खरीदी गई। उनका आरोप है कि यह मनी लॉन्ड्रिंग का मामला है और देश के करोड़ों भक्तों की आस्था से खिलवाड़ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here