अब परमबीर सिंह ने डीजीपी संजय पांडे के खिलाफ खोला मोर्चा! पूरी जानकारी के लिए पढ़ें ये खबर

मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने एक और लेटर बम फोड़ा है। सीबीआई को लिखे इस लेटर में उन्होंने डीजीपी संजय पांडे पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के साथ ही अब राज्य के पुलिस महानिदेशक संजय पांडे के खिलाफ भी मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने एक और लेटर बम फोड़ते हुए पांडे पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

सीबीआई को लिखे लेटर में उन्होंने कहा है कि राज्य के डीजीपी संजय पांडे ने उन्हें पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगाए गए आरोपों को वापस लेने को कहा था। सिंह के अनुसार संजय पांडे ने उन्हें कहा था कि अगर आप देशमुख के खिलाफ लगाए गए आरोपों को वापस लेते हैं तो आपके खिलाफ जांचों को बंद कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़ेंः न्यायालय पहुंचा चुनाव आयोग! जानिये, क्या है मामला

  • परमबीर सिंह के आरोप
    देशमुख के खिलाफ शुरू की गई जांचों को प्रभावित करने की कोशिश की जा रही है
  • गवाहों पर दबाव बनाए जा रहे हैं।
  • संजय पांडे ने मुझे फोन कर कहा कि मैं आपको कुछ सलाह देना चाहता हूं।
  • डीजीपी ने कहा कि वे सिस्टम के खिलाफ कई सालों तक लड़े, लेकिन सिस्टम कभी आपको जीतने नहीं देता है। डीजीपी ने कहा कि कोई सिस्टम के खिलाफ लड़कर जीत नहीं सकता है।
  • संजय पांडे ने कहा, 1 अप्रैल 2021 को आपके खिलाफ शुरू की गई विभागीय जांच सरकार की ओर से विचार किए जा रहे कई कार्रवाईयों में से एक है।
  • सरकार आपके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज करना चाहती है।
  • डीजीपी ने कहा कि अगर आप ठीक भी हैं तो आपको सरकार के खिलाफ नहीं लड़ना चाहिए।
  • डीजीपी ने अनिल देशमुख के खिलाफ मुख्यमंत्री को लिखे लेटर को वापस लेने की सलाह दी।
  • संजय पांडे ने मुझे सलाह दी कि लेटर वापस लेते समय आप कह सकते हैं कि मैंने अनिल देशमुख से नाराज होकर यह लेटर लिख दिया था।

    ये है मामला

    बता दें कि 20 मार्च को परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर गृह मंत्री अनिल देशमुख पर गंभीर आरोप लगाए थे। उन्होंने पत्र में लिखा था कि गृह मंत्री ने मुंबई के पूर्व पुलिस निरीक्षक सचिन वाझे को हर महीने 100 करोड़ रुपए हफ्ता वसूली का टारगेट दिया था। फिलहाल इस मामले की जांच सीबीआई कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here