यूपी सहित 5 राज्यों में चुनाव की तारीखों की घोषणाः जानिये, कहां कब होगा मतदान और कब आएगा परिणाम

पांच राज्यों में कुल 690 सीटों पर चुनाव होंगे। इनमें गोवा में 40, मणिपुर में 60, पंजाब में 170, उत्तराखंड 70 और उत्तर प्रदेश की 403 सीटें शामिल हैं।

देश के पांच राज्यों में होने वाले चुनाव का ऐलान चुनाव आयोग ने कर दिया है। उत्तर प्रदेश की कुल 403 सीटों पर 7 चरणों में चुनाव कराए जाएंगे। पंजाब, उत्तराखंड और गोवा में एक ही दिन 14 फरवरी को मतदान होगा, वहीं मणिपुर में दो चरणों में 27 फरवरी और 3 मार्च को मतदान कराए जाएंगे।

उत्तर प्रदेश में पहले राउंड का मतदान 10 फरवरी को कराया जाएगा। इसके बाद दूसरे चरण का मतदान 14 फरवरी को, तीसरे चरण का 20 फरवरी को, चौथे चरण का 32 फरवरी को कराए जाएंगे। 27 फरवरी को 5वें, 3 मार्च को छठे और 7 मार्च तो 7वें चरण का मतदान होगा। 10 मार्च को सभी राज्यों के मतों की गिनती के साथ ही परिणाम घोषित किए जाएंगे।

कुल 690 सीटों पर मतदान
पांच राज्यों में कुल 690 सीटों पर चुनाव होंगे। इनमें गोवा में 40, मणिपुर में 60, पंजाब में 170, उत्तराखंड 70 और उत्तर प्रदेश की 403 सीटें शामिल हैं।

चुनाव आयोग ने यह कहाः
चुनाव आयोग ने कहा कि हमारे तीन मुख्य उद्देश्य हैं- पहला है सुरक्षित चुनाव, दूसरा है मतदाताओं के लिए बिना किसी परेशानी के मतदान का अनुभव और तीसरा है अधिक से अधिक मतदान।

आचारसंहिता लागू
चुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ ही सभी पांच राज्यों में आचारसंहिता लागू हो गई है। कोरोना महामारी के साये मे कराए जाने वाला यह चुनाव आयोग के लिए बड़ी चुनौती है। चुनाव आयोग ने इसके लिए प्रचार प्रसार से लेकर मतदान तक के लिए कई कड़े नियम निश्चित किए हैं।

चुनाव में कुल 18.3 करोड़ मतदाता हिस्सा लेंगे
इस चुनाव में कुल 18.3 करोड़ मतदाता हिस्सा लेंगे। इनमें से 8.55 करोड़ महिला मतदाता हैं। सभी पांच राज्यों में महिला मतदाताओं का अनुपात बढ़ा है। सबसे ज्यादा 29 प्रतिशत की बढ़ोतरी उत्तर प्रदेश में, 24 प्रतिशत गोवा में, 19प्रतिशत मणिपुर में, 18 प्रतिशत उत्तराखंड में और 10 प्रतिशत पंजाब में हुई है। 24.9 लाख मतदाता पहली बार मतदान करेंगे। 11.4 लाख महिला मतदाता हैं। एक मतदान केंद्र में अधिकतम 1250 मतदाता होंगे। कुल मतदान केंद्रों की संख्या 2 लाख 15 हजार 368 हो गई है। 1620 मतदान केंद्र पूरी तरह से महिला कर्मचारियों द्वारा चलाए जाएंगे। कुछ मतदान केंद्रों को विकलांग व्यक्तियों द्वारा नियंत्रित किया जाएगा। विकलांगों के लिए मतदान केंद्रों पर रैंप, व्हीलचेयर जैसी सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। कुल 900 पर्यवेक्षक चुनाव प्रक्रिया की निगरानी करेंगे।

 

कैसे होंगे चुनाव?
पहला चरण – 10 फरवरी
सभी राज्यों में कुल 7 चरणों में चुनाव होंगे। उत्तर प्रदेश में पहले चरण के लिए 14 जनवरी को नामांकन पत्र जारी किया जाएगा। नामांकन करने की अंतिम तिथि 21 जनवरी है और वापसी की तारीख 27 जनवरी है। वोटिंग 10 फरवरी को होगी।

दूसरा चरण
इस चरण में 4 राज्यों में चुनाव होंगे। उत्तर प्रदेश का दूसरा चरण, उत्तराखंड, पंजाब और गोवा का पहला चरण। नामांकन पत्र 21 जनवरी, नामांकन की अंतिम तिथि 28 जनवरी, नाम वापसी की तिथि 31 जनवरी और मतदान की तिथि 14 फरवरी है।

तीसरा चरण
यह चरण उत्तर प्रदेश का तीसरा चरण होगा। नामांकन फॉर्म 25 जनवरी को जारी किया जाएगा। आवेदन की अंतिम तिथि 1 फरवरी है, वापसी की तारीख 4 फरवरी है, और मतदान की तारीख 20 फरवरी है।

चौथा चरण
इस चरण में उत्तर प्रदेश में चुनाव होने हैं। नामांकन पत्र प्राप्त करने की की तिथि 27 जनवरी, नामांकन की तिथि 3 जनवरी, नाम वापस लेने की तिथि 7 फरवरी और मतदान की तिथि 23 फरवरी होगी।

पांचवां चरण
उत्तर प्रदेश में पांचवें और मणिपुर में पहले चरण का मतदान होगा। नामांकन पत्र 1 फरवरी को जारी किया जाएगा। आवेदन की अंतिम तिथि 8 फरवरी है। नाम वापसी की तारीख 11 फरवरी और मतदान की तारीख 27 फरवरी होगी।

छठा चरण
इस चरण में उत्तर प्रदेश छठा और मणिपुर में दूसरे चरण के चुनाव होंगे। नामांकन पत्र 4 फरवरी को, आवेदन दाखिल करने की तिथि 11 फरवरी, नाम वापस लेने की तिथि 16 फरवरी और मतदान की तिथि 3 मार्च होगी।

सातवां चरण
उत्तर प्रदेश के सातवें चरण के लिए नामांकन पत्र 10 फरवरी को जारी किया जाएगा। आवेदन की तारीख 17 फरवरी, नाम वापसी की तारीख 21 फरवरी और मतदान की तारीख 7 मार्च होगी।

मतगणना की तिथि 10 मार्च होगी।

राज्यवार चुनाव कार्यक्रम
उत्तर प्रदेश में 7 चरणों में मतदान

पहला चरण – 10 फरवरी
दूसरा चरण – 14 फरवरी
चरण तीन –  20फरवरी
चरण चार – 23 फरवरी
चरण पांच –  27 फरवरी
चरण छह – 3 मार्च
स्टेज सात –  8 मार्च

मतगणना – 10 मार्च

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here