जब मिसेज फडणवीस बोलीं.. ए भाई, तू जो कोई भी होगा – मुझपर उंगली नहीं उठाने का

महाराष्ट्र का सियासी दंगल सीमोल्लंघन करने से भी परहेज नहीं कर रहा। पंढरपुर में भाजपा नेता शिरीष काटेकर की टिप्पणियों से नाराज शिवसैनिकों ने उनके साथ अभद्रता की थी। अब कांग्रेस के भाई ने अपनी सियासी टिप्पणी में फडणवीस की पत्नी को घेर लिया है।

एसयूवी बम, लेटर बम और अब बमचक… महाराष्ट्र की राजनीति में पहले दोनों प्रकरण सरकार के लिए गली की हड्डी बने हुए हैं। उस पर कांग्रेस के मुंबईवाले ‘भाई’ ने एक बमचक मचा दी है। उनके इस बमचक को दो घंटे ही बीते थे कि सामने से जबरदस्त काउंटर अटैक हो गया है। यानी अपने मुंबई वाले ‘भाई’ को ‘भाईगिरी’ में ही उत्तर मिला तो बोलती बंद ही बंद हो गई है।

अब भाई क्या करें… सोलह घंटे बीतने के बाद भी उनकी भाईगिरी पर सन्नाटा है। हो भी क्यों ना? आखिर, भाई ने पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर जब उंगली उठाई तो आरोप में श्रीमती फडणवीस को भी जो खींच लिया था। राजनीति की चौसड़ से दूर श्रीमती फडणवीस अपनी बैंकर की जिम्मेदारी और परिवार को संभालती हैं और उससे समय निकालकर अपनी मधुर आवाज से कला की बगिया को गुंजित कर देती हैं।

इसे मराठी में पढ़ें – जेव्हा मिसेस फडणवीस म्हणाल्या ‘डिवचायचं’ नाही…

ये भी पढ़ें – अब ‘संजय’ ने शुरू कर दी ‘महाभारत!’

…और ट्विटर पर तड़ाक
हाल ही में महिला दिवस के आसपास मिसेज फडणवीस का एक गाना रिलीज हुआ “नयन डरे-डरे” इसमें स्वर और प्रस्तुति दोनों ही मोहक थी। लेकिन, राजनीति को इससे क्या काम उसकी पूजा तो बमचक है। सो भाई ने बमचक मचाते हुए एक चैनल को दिये साक्षात्कार में श्रीमती फडणवीस को लपेट लिया।

मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष भाई जगताप ने पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर टिप्पणी की थी। उन्होंने पूछा है कि, पुलिस वालों का खाता पत्नी के बैंक में किस आधार पर स्थानांतरित किया था पहले इसका उत्तर दें।

भाई ने गृहमंत्री अनिल देशमुख के समर्थन में अपनी पार्टी का समर्थन व्यक्त करने के लिए बोल तो दिया पर ये तीर श्री फडणवीस को नहीं बल्कि श्रीमती फडणवीस को जा लगा। जिसके बाद तो ट्विटर पर ही भाई की भाईगिरी ढीली कर दी श्रीमती फडणवीस ने..

ए भाई, तू जो कोई भी होगा – मुझपर उंगली नहीं उठाने का!
पुलिसवालों के खाते तुम्हारे ही राज में तुम्ही ने ‘UTI बैंक / AXIS बैंक’ की योग्यता देखकर दी थी!
ध्यान में रख, सीधे रास्ते चलनेवाले लोगों को परेशान नहीं करने का!

ये भी पढ़ें – उत्तर प्रदेशः होली मनाने से पहले जान लें सरकार की गाइडलाइंस!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here