अमरावती दंगाः फडणवीस का हिंदुओं पर झूठा मामला दर्ज करने का आरोप! राउत ने कहा, “यहां ठाकरे सरकार…”

अमरावती दंगा को लेकर महाराष्ट्र की भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना आमने-सामने है। इस मामले मे दोनों पार्टियों में हर दिन आरोप-प्रत्यारोप जारी है।

महाराष्ट्र के अमरावती दंगा को लेकर शिवसेना सांसद संजय राउत ने विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस और भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि फडणवीस को विवादित बयान नहीं देना चाहिए। यहां ठाकरे सरकार है। महाराष्ट्र में कानून का राज है। उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि यहां कार्रवाई करते समय समूह, गुट और पार्टियों को नहीं देखा जाता है। वह मुंबई में पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे। फडणवीस ने कहा है कि अमरावती में हुए दंगे में केवल हिंदुओं के खिलाफ मामला दर्ज किया जा रहा है।

संजय राउत ने कहा, “यहां कानून का राज है, यहां कार्रवाई करते समय गुट, पार्टी और जाति नहीं देखी जाती। फडणवीस को आग में घी डालने का काम नहीं करना चाहिए। वे महारष्ट्र के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। महाराष्ट्र की पहचान दंगों से नहीं होनी चाहिए। यह उनको भी ख्याल रखना चाहिए। सबको मालूम है कि अमरावती दंगा किसने शुरू किया।”

आग में घी डालने का काम  न करें फडणवीस
शिवसेना सांसद ने आगे कहा, देश जानता है कि अमरावती में दंगे किसने कराया, किस वजह से हुआ और इसके पीछे कौन था। राज्य के गृह मंत्री भी जानते हैं और अमरावती की जनता भी जानती है। अब वहां शांति है। मैं उनसे महाविकास आघाड़ी की ओर से अपील करूंगा कि वे आग में घी डालने का काम न करें।”

ये भी पढ़ेंः “सस्ती शराब, महंगा तेल..!” ठाकरे सरकार पर भाजपा नेता ने कसा तंज

“क्या अमरावती में खुफिया तंत्र फेल हो गया?”
मंत्री और कांग्रेस नेता यशोमति ठाकुर ने स्वीकार किया कि खुफिया तंत्र विफल हो गया था। जिस दिन घटना हुई, उस दिन न कलेक्टर था, न पुलिस। यह पूछे जाने पर कि क्या सरकार में कुछ मंत्रियों को ऐसा लगता है, संजय राउत ने कहा, “कभी-कभी खुफिया जानकारी विफल हो जाती है। आखिर वह जनशक्ति है। देशभर में कई मामलों में इंटेलिजेंस फेल हो रही है। यह कश्मीर, त्रिपुरा में भी होता है। वैसे भी, अमरावती में हुए दंगों पर काबू पा लिया गया। यह महत्वपूर्ण है कि अमरावती में शांति बनी रहे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here