मुख्यमंत्रियों संग बैठक में अमित शाह ने सीमा सुरक्षा पर कही ये बात

बैठक में बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने नेपाल सीमा पर संघर्ष की घटनाओं को लेकर चिंता जाहिर की। उन्होंने केंद्र की ओर से ठोस कदम उठाने की अपील की।

पूर्वी क्षेत्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक में 16 दिसंबर को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सीमा सुरक्षा को लेकर बड़ी बात कही है। उन्होंने कहा है कि सीमा सुरक्षा की जिम्मेदारी केवल बीएसएफ की नहीं है बल्कि संबंधित राज्यों की भी है।

हावड़ा स्थित राज्य सचिवालय नवान्न में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और ओडिशा के गृह राज्य मंत्री तुषार कांति बेहरा के साथ हुई उच्च स्तरीय बैठक में अमित शाह ने कहा कि सीमा पर सुरक्षा की जिम्मेदारी जितनी बीएसएफ की है, उतनी ही राज्य सरकार की भी है। पहले की सरकारों ने सीमा सुरक्षा में काफी कोताही बरती थी लेकिन हम लोग उसे बहुत हद तक पूरा कर रहे हैं। और अधिक उच्च स्तरीय सुरक्षा की व्यवस्थाएं की जा रही है।

ममता बनर्जी ने की ये मांग
सूत्रों ने यह भी बताया है कि इस बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अमित शाह से पश्चिम बंगाल के लिए 100 दिनों के रोजगार गारंटी योजना की बकाया राशि का भुगतान जल्द करवाने की अपील की है। बैठक में केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला भी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें – पश्चिम बंगाल के दौरे पर शाह, भाजपा नेताओं को दी ये सलाह

तेजस्वी ने नेपाल सीमा पर संघर्ष की घटनाओं को लेकर जताई चिंता
सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने नेपाल सीमा पर संघर्ष की घटनाओं को लेकर चिंता जाहिर की। उन्होंने केंद्र की ओर से ठोस कदम उठाने की अपील की है। ओडिशा के गृह राज्य मंत्री तुषार कांति बेहरा ने भी राज्य से सटी सीमा पर सुरक्षा के लिए राज्य सरकार से हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। इसके अलावा आंतरिक सुरक्षा को लेकर भी चर्चा हुई है, जिसमें अमित शाह ने आश्वस्त किया है कि राज्य की एजेंसियों को केंद्र सरकार से जो भी मदद की जरूरत पड़ेगी, वह दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here