अमित शाह ने बोला ममता सरकार पर हमला, सीएए लागू करने को लेकर की ये घोषणा

केन्द्रीय गृह गृहमंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की ममता सरकार पर हमला बोलते हुए उसकी नीतियों की कड़ी आलोचना की।

पश्चिम बंगाल के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने 5 मई की शाम को सिलीगुड़ी में एक जनसभा की। सभा मेें उन्होंने तृणमूल कांग्रेस और ममता बनर्जी पर निशाना साधा। ममता बनर्जी पर सीमा पर घुसपैठ को बढ़ावा देने का गंभीर आरोप लगाते हुए उन्होंने एक बार फिर बंगाल सहित पूरे देश में नागरिकता अधिनियम (सीएए) लागू करने का आश्वासन दिया।

सीएए को लेकर की यह घोषणा
केन्द्रीय मंत्री शाह ने कहा, “नागरिकता (संशोधन) अधिनियम के बारे में तृणमूल अफवाह फैला रही है कि यह धरातल पर लागू नहीं होगा। उन्होंने कहा कि हम वादा करते हैं कि कोरोना महामारी समाप्त होने के बाद हम पूरे देश में सीएए लागू करेंगे। ममता चाहती हैं कि घुसपैठ जारी रहे लेकिन कान खोलकर सुन लें, सीएए वास्तविकता था, है और रहेगा। उन्होंने कहा कि ममता घुसपैठ के जरिए चाहती हैं कि यहां की बाहुल्यता बदल जाए, ऐसा हम नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि ममता ने गोरखा भाइयों के लिए बटालियन बनाने का वादा किया था। क्या हुआ? तृणमूल बोल कर भूल जाती है। यह उनकी आदत है।

ममता बनर्जी पर आरोप
केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशभर में 80 करोड़ लोगों को पांच किलो अनाज प्रति व्यक्ति प्रति महीना दिया है। ममता प्रधानमंत्री के भेजे थैलों पर अपनी फोटो चिपका रही हैं। उन्होंने कहा कि देश में कहीं कुछ होता है, वहां ममता तृणमूल का डेलीगेशन भेजती हैं। बीरभूम में आठ लोगों को जिंदा फूंक दिया गया, वहां डेलीगेशन क्यों नहीं गया। एक बच्ची की रेप के बाद हत्या कर दी गई, वहां डेलीगेशन क्यों नहीं गया। बंगाल को कंगाल करके रख दिया है। बंगाल का जीडीपी 33 पर्सेंट था, वह घटकर 3.3 पर्सेंट हो गया है। उन्होंने कहा कि पूरे देश में अगर कहीं पेट्रोल 115 रुपये में है, तो वह बंगाल में ही है।

बंगाल की जनता को दिया धन्यवाद
उन्होंने इशारे में अपने भाजपा विधायकों को संदेश भी दिया। अमित शाह ने कहा कि बंगाल के लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूं कि उन्होंने विधानसभा में भाजपा विधायकों की संख्या को तीन से बढ़ाकर 77 करने में मदद की। उन्होंने कहा कि तृणमूल के अत्याचारों के खिलाफ भाजपा की लड़ाई जारी रहेगी। उन्होंने भाजपा नेताओं को तृणमूल सरकार से नहीं डरने को भी कहा है। शाह ने कहा कि नॉर्थ बंगाल हमारा पूरे उत्तर पूर्व से जोड़ने वाला है। यहां पर बंगाली, गोरखा, राजवंशी, आदिवासी, हिंदी भाषी, टोटो सब दूध में चीनी मिल जाने की तरह रहती है। तृणमूल इसमें भेद कराना चाहती है। जनसांख्यिकी बदलना चाहती है। बाहुल्यता बदलना चाहती है। हम घुसपैठ नहीं होने देंगे।

जारी रहेगी भाजपा की लड़ाई
शाह ने कहा, ”ममता दीदी के कटमनी, सिंडीकेट, गुंडागर्दी, भ्रष्टाचार, अत्याचार और राजनीति हत्याओं के खिलाफ भाजपा की लड़ाई जारी रहेगी। तृणमूल के अत्याचारी शासन को उखाड़ नहीं फेंकते तब तक भाजपा की लड़ाई जारी रहेगी।”

नहीं सुधरीं दीदी
ममता पर हमला बोलते हुए केन्द्रीय गृहमंत्री ने कहा कि हम तो लोकतंत्र में विश्वास करने वाले लोग हैं। हमें लगा मां, माटी और मानुष का हवाला देने वाली दीदी तीसरी बार सुधर जाएंगी। एक साल का समय दिया था सुधर जाइए, नहीं सुधरीं। बंगाल के अंदर अत्याचार कम नहीं हुए। कटमनी बंद नहीं हुई। भ्रष्टाचार बंद नहीं हुआ। सिडींकेट का राज बंद नहीं हुआ। भाजपा के नेताओं की हत्याएं बंद नहीं हुईं। तीन बार मौका देने के बाद भी आप नहीं सुधरे। शाह ने कहा कि आज वह कहते हैं कि बंगाल की जनता पर भ्रष्टाचार, अत्याचार और राज्य में कटमनी भाजपा बंद करेगी। उन्होंने कहा कि जनता अच्छे अच्छों का मिजाज बदल सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here