चारा घोटाला पकड़नेवाले ‘खरे’ देंगे पीएम को सलाह… पढ़िये उनका करियरग्राफ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सलाहकार के रूप में नई नियुक्ति हुई है। जिस पूर्व अधिकारी को इसकी कमान मिली है, उन्होंने बिहार के चाईबासा में हुए चारा घोटाले का पता लगाया था। अब उन पर देश की शिक्षा नीति को सुधारने का जिम्मा मिला है।

अमित खरे 1985 बैच के झारखंड कैडर के अधिकारी रहे हैं। पिछले माह ही वे सेवा निवृत्त हुए हैं। वे इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट अहमदाबाद से एमबीए हैं। वर्ष 2019 में उच्च शिक्षा सचिव के रूप में उन्होंने कार्य संभाला है। अमित खरे को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विश्वसनीय अधिकारियों में गिना जाता है। 2018-19 के सूचना प्रसारण मंत्रालय के सचिव के रूप में भी वे सेवाएं दे चुके हैं। उनके कार्यकाल में ही सूचना प्रौद्योगिकी (मध्यवर्ती दिशानिर्देश और डिजिटल मीडिया आचार संहिता) नियम, 2021 जारी किया गया था।

ये भी पढ़ें – वीर सावरकर का जीवन एक पुस्तक में समेटना संभव नहीं – राजनाथ सिंह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सलाहकार के रूप में अमित खरे की नियुक्ति अनुबंध के आधार पर होगी। जिसका कार्यकाल दो वर्ष का होगा। उनका पद सचिव के स्तर का है। नई शिक्षा नीति लागू करने में भी खरे की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here