बिहार के बाद महाराष्ट्र में भी होगी जातीय जनगणना? जानें, राकांपा के इस नेता ने क्या कहा

कई पार्टियों का मानना है कि महाराष्ट्र में जातिवार जनगणना की आवश्यकता है। इसलिए बिहार के बाद महाराष्ट्र में भी जातीय जनगणना कराने का निर्णय लिया जा सकता है।

बिहार के बाद महाराष्ट्र में भी जातीय जनगणना कराने का निर्णय लिया जा सकता है। कई पार्टियों का मानना है कि प्रदेश में जातिवार जनगणना की आवश्यकता है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और जल संसाधन मंत्री जयंत पाटील ने भी माना है कि प्रदेश में जातीय जनगणना कराई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि वे इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से पार्टी की ओर से सर्वदलीय बैठक बुलाने का अनुरोध करेंगे।

एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने यशवंतराव चव्हाण प्रतिष्ठान में मंत्रियों, सांसदों और प्रमुख नेताओं की समीक्षा बैठक आयोजित की थी। इस बैठक के बाद जयंत पाटील ने मीडिया से बात करते हुए यह जानकारी दी।

जनता की समस्याओं के समाधान की पूरी कोशिश
लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए राकांपा के मंत्री जी-तोड़ मेहनत कर रहे हैं। जयंत पाटिल ने यह दावा करते हुए  कहा कि जिलों का दौरा कर भी लोगों की समस्याओं का समाधान किया जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी ने राज्यसभा के लिए तीसरा उम्मीदवार उतारा है। इस स्थिति में हॉर्स ट्रेडिंग की संभावना है। पाटील ने भाजपा से तीसरे उम्मीदवार का नामांकन वापस लेने की मांग की है। हालांकि भाजपा इसके लिए बिलकुल भी तैयार नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here