वो रोए और भारत सरकार के लिए ऐसा बोले… क्या संशोधित नागरिकता कानून से मिलेगी राहत?

भारत के पड़ोस के देशों जिसमें पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश आदि से प्रताड़ित होकर निर्वासित हुए हिंदू, सिख जैसे अल्पसंख्यकों को भारत में नागरिकता देने के लिए संशोधित नागरिकता कानून लाया गया था। संशोधित नागरिकता विधेयक को संसद ने 11 दिसंबर 2019 को परित किया था। 12 दिसंबर को इसे राष्ट्रपति की स्वीकृति मिल गई और यह एक अधिनियम बन गया।

अफगानिस्तान से भारत लौटे हिंदू सिखों का दर्द असहनीय है। भारत ने ऐसे समय में आपात वीजा जारी करके उन्हें भारत वापस लाया है, जब इस्लामी देश भी अफगानी मुसलमानों को अपने यहां शरण देने से इन्कार कर चुके हैं। अपना सबकुछ गंवानेवाले हिंदू सिखों को अब भारत के संशोधित नागरिकता कानून से भी आशाएं हैं।

अफगानिस्तान से लौटे हिंदू सिख भारत को धन्यवाद कह रहे हैं। केंद्र सरकार के प्रयत्नों के लिए भारतीय सिख समुदाय भी आभार प्रकट कर रहा है। इस्लामी आतंक के साए में अपना सबकुछ खोनेवाले हिंदू, सिख व इस्लामी देशों में रहनेवाले अल्पसंख्यकों की सुरक्षा के लिए भारत सरकार ने संशोधित नागरिकता कानून लाया था। जिसका महत्व अब अफगानिस्तान की परिस्थिति को देखते हुए लोगों को समझ में आ रहा है। जो लोग अफगानिस्तान से लौटे हैं उन्होंने अपने दर्द सुनाए हैं…

ये भी पढ़ें – अफगान सिखों की बर्बादी पर ‘खालिस्तानी प्यादे’ चुप, गुरु ग्रंथ साहिब की वो प्रतियां भारतीय सेना के विमान में

धन्यवाद भारत
अफगानिस्तान में अपना सबकुछ गंवानेवाले हिंदू सिख जब काबुल के हामिद करजई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचे तो उनका दर्द असहनीय था। अपनी शीर्ष ग्रंथ को सिर पर लिये इन सिखों ने भारत द्वारा दी जा रही मानवीय सहायता के लिए धन्यवाद व्यक्त किया है।

ये भी पढ़ें – तालिबान ने अमेरिका को धमकाया, 31 अगस्त के बाद तुम्हारे सैनिक यहां नहीं दिखने चाहिए, वर्ना…

बीस साल का बनाया सबकुछ खत्म हो गया
अफगानिस्तान में तालिबानियों द्वारा लुटने के बाद हिंदू सिखों के दुखों का पहाड़ बहुत बड़ा है, इसका एक दृश्य देखने को मिला नई दिल्ली अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर। अफगानिस्तान संसद के सदस्य नरेन्दर सिंह खालसा पहुंचे। वहां उनसे स्थिति जानने के लिए पत्रकार पहुंचे थे जिनके प्रश्नों पर उनके आंसू टपकने लगे। नरेन्दर सिंह के पिता अवतार सिंह जलालाबाद में हुए 2018 के आतंकी हमले में मारे गए थे।

सांसद बोली धन्यवाद भारत
अफगानिस्तान संसद के सदस्य अनारकली होनारयार को भारत लाया गया है। उन्होंने काबुल के भारत की यात्रा में एक वीडियो के माध्यम से भारत सरकार की आभार माना है।

भारतीय सिख समुदाय ने भी की सराहना
दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजिंग कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने केंद्र सरकार का आभार माना है। उन्होंने बताया की जिन लोगों को भारत लाया जा रहा है, वे सभी परेशान थे, उनका यहां स्वागत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here