चंडीगढ़ः आम आदमी पार्टी को जोर का झटका! भाजपा ने किया बड़ा उलटफेर

हाल ही में चंडीगढ़ नगर निगम के कराए गए चुनाव में 'आप' को 14 सीटें मिली हैं, जबकि भाजपा को मात्र 12 सीटें ही मिल पाईं।

चंडीगढ़ नगर निगम में आम आदमी पार्टी को जोर का झटका लगा है। यहां वह चुनाव में जीतकर भी हार गई है। निगम के मेयर पद पर भारतीय जनता पार्टी ने कब्जा कर आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका दिया है।

8 जनवरी को हुए चुनाव में भाजपा की सरबजीत कौर ने आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार को हराकर यहां के मेयर पद पर कब्जा कर लिया। उन्होंने 14 पार्षदों के समर्थन के बाद यह चुनाव जीत लिया। यहां कुल 28 वोटों में से आधे वोट उन्हें प्राप्त हुए, जबकि 13 वोट आप के उम्मीदवार को मिले। एक वोट इलवैलिड होने से यहां उलटफेर हो गया।

भााजपा की बड़ी जीत
पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्दे नजर भाजपा के लिए यह बड़ी जीत मानी जा रही है। इस चुनाव के दौरान भाजपा उम्मीदवार की जीत के बाद आम आदमी पार्टी के पार्षदों ने हंगामा शुरू कर दिया।

‘आप’ ने लगाया आरोप
दरअस्ल हाल ही में यहां कराए गए निगम के चुनाव में ‘आप’ को 14 सीटें मिली हैं, जबकि भाजपा को मात्र 12 सीटें ही मिल पाईं। उसके बावजूद भाजपा का मेयर पद पर कब्जा उसकी बड़ी जीत है। इससे नाराज आप ने भाजपा पर गड़बड़ी करने का आरोप लगाया है।

भाजपा ने इस तरह किया उलटफेर
दरअस्ल चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव के परिणाम आने के कुछ दिन बाद ही कांग्रेस के टिकट पर जीत हासिल करने वाली पार्षद हरप्रीत कौर बाबला भाजपा में शामिल हो गई थीं। उनके साथ ही उनके पति और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता देविंदर बाबला भी भगवा पार्टी में शामिल हो गए थे। इन्हें पार्टी में स्वागत करने के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर खुद चंडीगढ़ पहुंचे थे। इसी से समझा जा सकता है कि भाजपा ने इस उलटफेर के लिए कितनी जीतोड़ मेहनत की। चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव में कुल 35 सीटों में से भाजपा को इस बार मात्र 12 सीटें ही मिली हैं, जबकि पिछले चुनाव में उसकी 20 सीटों पर जीत हुई थी।

सोशल मीडिया पर मजेदार कमेंट
भारतीय जनता पार्टी की इस जीत पर सोशल मीडिया में तरह-तरह के कमेंट किए जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here