वाझे के साथ ‘वो’ कौन थी?

गिरफ्तार एपीआई सचिन वाझे के साथ मुबंई के फाइव स्टार होटल में एक महिला भी थी।

निलंबित और गिरफ्तार सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाझे के मामले में एक नया खुलासा हुआ है। एनआईए के मुताबिक मुबंई के फाइव स्टार होटल में वाझे के साथ एक अनजान महिला भी थी। वह महिला वाझे के साथ होटल से बाहर आई थी। जांच एजेंसी अब यह पता लगाने में जुट गई है कि वाझे के साथ होटल से बाहर आने वाली वो महिला कौन थी? एजेंसी ने दावा किया है कि उस महिला के हाथ में नोट गिनने वाली मशीन भी थी।

जांच एजेंसी के अनुसार वाझे ने दक्षिण मुंबई स्थित एक फाइव स्टार होटल में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक से भरी गाड़ी रखने की साजिश रची थी। इसके लिए उन्होंने इस होटल में 100 दिनों के लिए एक कमरा किराए पर लिया था। 22 मार्च को एनआईए ने उस होटल की तलाशी ली थी और जांच-पड़ताल की थी। इसके लिए  एजेंसी के अधिकारी वाझे को लेकर होटल पहुंचे थे।

नकली आधार कार्ड बरामद
तलाशी के दौरान एनआईए के अधिकारियों को सचिन वाझे के एक नकली आधार कार्ड की फोटो कॉपी भी मिली है। एजेंसी का मानना है कि वाझे ने इसी आधार कार्ड से होटल में कमरा बुक कराया था। अपनी पहचान छिपाने के लिए वाझे ने इस नकली आधार कार्ड का इस्तेमाल किया था।

ये भी पढ़ेंः परम ‘वीर’ को सर्वोच्च झटका!

वाझे के हाथ में थे कई बैग
एनआईए को इस जांच-पड़ताल के दौरान होटल से सीसीटीवी फूटेज भी मिली है। इसमें वाझे के हाथ में कई बैग दिख रहे हैं। एनआईए को शक है कि उनमें से एक बड़े बैग में जिलेटिन की छड़ें हैं, जिन्हें बाद में अंबानी के घर के बाहर रखी गई स्कॉर्पियो कार से बरामद किया गया था।

सीसीटीवी फूटेज में दिखी अनजान महिला
इसके साथ ही सीसीटीवी में एक अनजान महिला की तस्वीरें भी कैद हैं। उसके हाथ में नोट गिनने वाली मशीन भी दिख रही है। अब एआईए यह पता लगाने में जुटी है कि वो महिला कौन थी और उसका वाझे तथा इस पूरे प्रकरण से क्या संबंध है?

ये भी पढ़ेंः अगले सीजेआई के लिए न्यायमूर्ति एनवी रमना का नाम!… पूरी जानकारी के लिए पढ़ें ये खबर

किसने किया 20 लाख रुपए का भुगतान?
इस फाइव स्टार होटल के जिस कमरे का इस्तेमाल वाझे कर रहा था, उसके बिल भरने को लेकर भी एनआईए पता लगाने में जुटी है। एजेंसी को पता चला है कि उस कमरे का 100 दिन का बिल दक्षिण मुंबई के एक व्यवसायी ने भरा था। लेकिन अभी तक उसके बारे में एजेंसी को कुछ भी जानकारी नहीं मिल पाई है। एनआईए से मिली जानकारी के अनुसार इस होटल के 100 दिन का बिल 20 लाख रुपए हुआ था। यह भारी-भरकम बिल दक्षिण मुंबई स्थित जवेरी बाजार के एक व्यवसायी ने भुगतान किया था।

 

व्यवसायी की युद्ध स्तर पर तलाश जारी
बता दें कि इस होटल के एक कमरे का हर दिन का किराया लगभग 13 हजार रुपए है। इसके आलावा खाने और अन्य तरह के खर्च जोड़कर 100 दिन का कुल खर्च 20 लाख रुपए बताया गया है। इस रकम का भुगतान करनेवाले व्यवसायी के बारे में पता लगाने के लिए एनआईए की एक टीम 24 मार्च को जवेरी बाजार पहुंची थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here