नारायण राणे होंगे गिरफ्तार? जानिये, क्या है मामला

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे की जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान इस समय कोंकण में हैं। रायगढ़ के म्हाड में पत्रकारों से बातचीत के दौरान राणे ने मुख्यमंत्री को लेकर कथित रुप से आपत्तिजनक बयान दिया था।

केंद्रीय मंत्री और महाराष्ट्र में भाजपा के दबंग नेता नारायण राणे को गिरफ्तार करने का आदेश जारी किया गया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की आलोचना करने को लेकर उनके खिलाफ म्हाड शहर पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है। उसके बाद उन्हें गिरफ्तार किए जाने की संभावना बढ़ गई है।

मिली जानकारी के अनुसार राणे को गिरफ्तार करने के लिए नासिक पुलिस की टीम रवाना हो गई है। फिलहाल परशुराम घाट के ग्रीन रिसॉर्ट में राणे के रुके होने की जानकारी मिल रही है।

कहां है राणे?
भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा पर निकले राणे फिलहाल मुंबई के बाद कोंकण क्षेत्र का दौरा कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने हाल ही में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ कथित रुप से आपत्तिजनक बयान दिया था। उस मामले में युवासेना के कार्यकर्ताओं द्वारा उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के बाद पुलिस ने राणे के खिलाफ मामला दर्ज किया है। यह मामला महाड शहर पुलिस थाने में दर्ज किया गया है।

इन धाराओं के तहत मामला दर्ज
राणे के खिलाफ दंड संहिता की धारा 153, 189, 504, 505 (2) और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है। महाड शहर थाने के पुलिस निरीक्षक शैलेश सणस मामले की जांच कर रहे हैं। इसके साथ ही पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम और कोरोना रोकथाम अधिनियम के तहत एक और मामला दर्ज किया है। इसमें भाजपा के जिला महासचिव बिपिन म्हामुणकर, जिला उपाध्यक्ष अक्षय ताडफले, म्हाड तालुका अध्यक्ष जयवंत दलवी के साथ ही 100 से 500 कार्यकर्ता शामिल हैं।

क्या कहा था नारायण राणे ने?
राणे की जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान इस समय कोंकण में हैं। रायगढ़ के म्हाड में पत्रकारों से बातचीत के दौरान राणे ने मुख्यमंत्री को लेकर कथित रुप से आपत्तिजनक बयान दिया था। राणे ने कहा था, स्वतंत्रता दिवस समारोह में सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे भूल गए कि यह स्वतंत्रता का अमृत जयंती वर्ष है। उस समय उन्होंने डायमंड उत्सव शब्द का इस्तेमाल किया था। हालांकि वहां मौजूद राज्य के मुख्य सचिव सीताराम कुंटे ने मुख्यमंत्री से कहा कि यह अमृत महोत्सव है। उसके बाद मुख्यमंत्री ने अपनी गलती सुधारी। उद्धव ठाकरे ने कहा, “आज, 74 साल पूरे करने के बाद, हम अमृत महोत्सव के 75 वें वर्ष में कदम रख रहे हैं, न कि डायमंड जुबली।” इस बात को लेकर राणे ने कहा कि अगर मैं वहां होता तो उनको कान के नीचे बजा देता।

चिपलून में भी की थी मुख्यमंत्री की आलोचना
इससे पहले भी राणे ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लेकर कथित रुप से आपत्तिजनक बयान दिया था। राणे जब चिपलून में महपुरा का निरीक्षण करने पहुंचे तो उन्होंने एक अधिकारी से बात करते हुए यह बयान दिया था। राणे ने कहा था कि सीएम बीएम उड़ गए हैं। उन्होंने जिला कलेक्टर से कहा था, ” सीएम बीएम उड़ गए हैं। हमें किसी का नाम मत बताना। क्या तुम्हारा यहां कोई अधिकारी है? अब तक तुम आराम से बैठे रहते थे लेकिन अब तुम्हें आराम से बैठने को नहीं मिलेगा। बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के निरीक्षण दौरे के दौरान अधिकारी के मौजूद नहीं रहने पर नारायण राणे ने जिला कलेक्टर को कड़ी फटकार लगाई थी। इस दौरान उन्होंने कथित रुप से मुख्यमंत्री का भी अपमान किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here