…और सीएम को करना पड़ा कीचड़ से सामना

देश की स्वतंत्रता के बावजूद अरुणाचल प्रदेश के चांगलांग जिले तक मियाओ-विजयनगर सड़क नहीं पहुच पाई है। इसकी दूरी लगभग 157 किलोमीटर है। राज्य में सत्ता आती, रही जाती रही लेकिन यह वनवासी क्षेत्र बगैर सड़क के देश से कटा रह गया। इस समस्या का सामना मुख्यमंत्री पेमा खांडू को भी करना पड़ा।

मुख्यमंत्री इस मार्ग से गुजरे तो उनका काफिला कीचड़ में फंस गया था। इस मार्ग पर गाड़ी, कीचड़ भरे रास्तों पर पैदल चलकर राह तय करनी पड़ी।

मुख्यमंत्री ने इस सड़क के 2022 के गाड़ियों के चलने योग्य होने का आश्वासन दिया है।

इस क्षेत्र में पीएमजीएसवाई योजना के तहत सड़क निर्माण होना है। लेकिन वह पिछले कई वर्षों से पूरी नहीं हो पाई है। विजय नगर जा रहे मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने योबिन समुदाय से भेंट की।

सीएम ने योबिन समुदाय का आत्मीयता से स्वागत करने पर आभार व्यक्त किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here