कब खत्म होगा कोरोना? जानिये, विशेषज्ञों की राय

देश में त्योहारों के महीने शुरू हो गए हैं। इस स्थिति में एम्स के मेडिसिन विभाग में प्रोफेसर डॉ. नीरज निश्चल ने कहा कि त्योहार खुशियां बांटने के लिए होते हैं, कोरोना नहीं।

कोरोना वायरस की तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच स्वास्थ्य विशेषज्ञ लगातार सावधान रहने की चेतावनी दे रहे हैं। एम्स के मेडिसिन विभाग में प्रोफेसर डॉ. नीरज निश्चल ने इस बारे में कहा है कि अगले एक से दो साल तक लोगों को सतर्क रहने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि त्योहारों के मौकों पर विशेष रुप से सावधानी बरतनी होगी।

प्रोफेसर नीरज ने कहा कि अभी भी दूसरी लहर का प्रभाव बाकी है। इस स्थिति में सावधानी बरतने की अत्यंत आवश्यकता है। तभी यह जंग जीती जा सकती है।

त्योहार कोरोना बांटने के लिए नहीं
बता दें कि देश में त्योहारों के महीने शुरू हो गए हैं। इस स्थिति में डॉ. नीरज ने कहा कि त्योहार खुशियां बांटने के लिए होते हैं, कोरोना नहीं। उन्होंने कहा कि अगले एक से दो साल में कोरोना काबू में आ जाएगा, तब तक हमें ऐसा कोई भी काम नहीं करना है, जिससे स्थिति बेकाबू हो जाए।

यह भी पढ़ेंः कांवड़ यात्रा पर प्रतिबंध, बकरीद पर क्यों नहीं?

अन्य विशेषज्ञों की राय
इससे पहले भी स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने अगले 125 दिनों तक सावधानी बरतने की सलाह दी थी। धार्मिक और पर्यटन स्थलों पर भीड़ करने से बचने की चेतावनी जारी करते हुए विशेषज्ञों ने यह सलाह दी थी। नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल भी कह चुके हैं कि देश में इम्यूनिटी हर्ड नहीं बनी है। लेकिन इसका यह अर्थ नहीं है कि संक्रमण फैलाकर इम्यूनिटी प्राप्त की जाए। इसका एकमात्र उपाय सावधानी है। इसी तरह की चेतावनी फोर्टिस अस्पताल के पीडियाट्रिक्स विभाग के निदेशक डॉ. अरविंद कुमार भी जारी कर चुके हैं। विशेषज्ञ लगातार कोरोना से बचने के लिए दिशानिर्देशों का पालन करने की चेतावनी दे रहे हैं। इन दिशानिर्देशों का पालन करना कोई मुश्किल काम नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here