पंजाब नैशनल बैंक के शुद्ध लाभ में तिगुनी बढ़ोतरी

सार्वजनिक क्षेत्र के ऋणदाता पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) का शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की जून तिमाही में एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले 231 फीसदी बढ़कर 1,023 करोड़ रुपये हो गया। क्रमिक आधार पर बैंक का शुद्ध लाभ मार्च तिमाही के 586 करोड़ रुपये के मुकाबले 74 फीसदी अधिक रहा।

तिमाही के दौरान एकल आधार पर बैंक की शुद्ध ब्याज आय (एनआईआई) एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले 6.5 फीसदी बढ़कर 7,226 करोड़ रुपये हो गई। शुद्ध ब्याज आय बैंक की कुल ब्याज आय और जमाकर्ताओं को भुगतान किए गए कुल ब्याज का अंतर है।

ये भी पढ़ें – नीतीश कुमार इस तरह बढ़ा रहे हैं मोदी सरकार की मुश्किलें?

तिमाही के दौरान बैंक की प्रावधान मदद की रकम 4,678 करोड़ रुपये पर लगभग स्थिर रही जबकि गैर-निष्पादित आस्तियों (एनपीए) के लिए प्रावधान सालाना आधार पर 32 फीसदी घटकर 3,248 करोड़ रुपये रह गया। तिमाही के दौरान बैंक का सकल एनपीए बढ़कर 14.33 फीसदी हो गया जो एक साल पहले की समान अवधि में 14.11 फीसदी रहा था। जनवरी से मार्च की अवधि में बैंक का सकल एनपीए 14.12 फीसदी रहा था। अप्रैल से जून तिमाही के दौरान पीएनबी का शुद्ध एनपीए 5.87 फीसदी रहा जो जनवरी से मार्च तिमाही के दौरान 5.73 फीसदी और अप्रैल से जून 2020 की अवधि में 5.39 फीसदी रहा था।

बैंक का प्रावधान कवरेज अनुपात 30 जून 2021 को 80.26 फीसदी था। बैंक ने यह भी कहा कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के मद्देनजर स्थिति अनिश्चित बनी हुई है और लगातार उसका आकलन किया जा रहा है। बैंक की सबसे बड़ी चुनौती नकदी प्रवाह में गिरावट और कार्यशील पूंजी चक्र में विस्तार होगी। बैंक ने कहा कि वह इन चुनौतियों से निपटने के लिए सभी मोर्चों पर अपनी रफ्तार बढ़ा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here