मात्र 17 दिनों में ऐसे तैयार किया जाएगा 16 लाख 12वीं के विद्यार्थियों का रिजल्ट!

महाराष्ट्र में इस वर्ष 12वीं कक्षा के 16 लाख छात्रों का आंतरिक मूल्यांकन करने के बाद परिणाम घोषित किया जाएगा। इसके लिए बोर्ड ने जूनियर कॉलेजों को 23 जुलाई तक का समय दिया है।

महाराष्ट्र के बोर्ड ऑफ हायर सेकेंडरी स्कूल एग्जामिनेशन ने 12वीं कक्षा के परिणाम की समय सारिणी घोषित कर दी है। बोर्ड ने राज्य भर के सभी जूनियर कॉलेजों को 12वीं कक्षा का काम 7 जुलाई से 23 जुलाई तक पूरा करने का अल्टीमेटम दिया है। उसके बाद 12वीं का परिणाम 31 जुलाई को घोषित किया जाएगा। यह जानकारी प्रदेश की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने ट्विटर कर दी है।

एसएससी के बाद अब एचएससी बोर्ड बनाएगा वर्ल्ड रिकॉर्ड
बता दें कि इस वर्ष 12वीं कक्षा के 16 लाख छात्रों का आंतरिक मूल्यांकन करने के बाद परिणाम घोषित किया जाएगा। इसके लिए बोर्ड ने जूनियर कॉलेजों को 23 जुलाई तक का समय दिया है। अब जूनियर कॉलेजों को मात्र 17 दिनों में 16 लाख छात्रों का परिणाम तैयार करना होगा। जिस तरह महाराष्ट्र एसएससी बोर्ड ने मात्र 17 दिनों में 17 लाख छात्रों का परिणाम तैयार कर विश्व रिकॉर्ड बनाया, उसी तरह एचएससी बोर्ड को भी केवल 17 दिनों में 12 वीं के 16 लाख छात्रों के परिणाम तैयार करने होंगे।

ये भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में अभिरूप विधान सभा… सीढ़ियों पर चुनाव, विरोध और ऐसे हो गई कार्रवाई

यह है फॉर्मूला
कोरोना संक्रमण के कारण इस साल के 12वीं के परिणाम के लिए 30:30:40 का फॉर्मूला पहले ही घोषित किया जा चुका है। यह फॉर्मूला सीबीएसई बोर्ड की नीति पर आधारित है। इसमें 10वीं कक्षा में उच्चतम अंक वाले तीन विषयों के औसत अंकों का 30 प्रतिशत, ग्यारहवीं कक्षा के अंतिम परिणामों में विषयवार अंकों का 30 प्रतिशत और 12वीं के सभी परीक्षाओं में विषय के अंकों  का 40 प्रतिशत शामिल होगा।

स्कूल शिक्षा मंत्री ने दी जानकारी
जूनियर कॉलेजों को परिणाम कैसे और कब जाहिर करना है, इसकी बोर्ड द्वारा एक विस्तृत समय सारिणी की घोषणा की गई है। इसके अनुसार शिक्षकों को 7 जुलाई से आंतरिक मूल्यांकन शुरू करना है और 23 जुलाई तक स्कूल और जूनियर कॉलेज स्तर पर छात्रों का आंतरिक मूल्यांकन पूरा करना है। इसके बाद रिजल्ट तैयार कर बोर्ड को भेजना है। शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने ट्वीट कर इस संबंध में जानकारी दी है।

इस तरह तैयार किए जाएंगे परिणाम
प्रधानाध्यापक और प्राचार्य को परिणाम समिति द्वारा प्रमाणित परिणामों के अनुसार बोर्ड के कंप्यूटर सिस्टम में छात्रों के विषयवार अंक भरने के लिए 14 जुलाई से 21 जुलाई के बीच का समय दिया गया है। साथ ही समिति द्वारा प्रमाणित छात्रों का परिणाम 21 से 23 जुलाई तक सीलबंद लिफाफे में मंडल बोर्ड के पास जमा करना है। उसके बाद उच्चतर माध्यमिक प्रमाण पत्र यानी बारहवीं की परीक्षा का परिणाम आगे संभागीय बोर्ड और राज्य बोर्ड स्तर पर चेक किया जाएगा। उसके बाद 12वीं बोर्ड के परिणाम 31 जुलाई को घोषित किए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here