कला विकास और सांस्कृतिक विविधता का माध्यम हिमालयन फिल्म फेस्टिवल

पहला हिमालयन फिल्म फेस्टिवल लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश के लेह में आयोजित किया गया है।

हिमालयन फिल्म फेस्टिवल शुरू हो चुका है। लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश में यह पहला फिल्म फेस्टिवल है। इस फिल्म फेस्टिवल के पहले दिन कारगिल युद्ध पर आधारित शेरशाह दिखाई गई। इस फिल्म फेस्टिवल में 12 राज्यों की प्रसिद्ध फिल्मों का दिखाया जाएगा।

द हिमालय फिल्म फेस्टिवल, लेह को सिंधु संस्कृति केंद्र में आयोजित किया गया है। इसमें विभिन्न भाषाओं की फिल्में दिखाई जाएंगी। फेस्टिवल में प्रवेश निशुल्क है। फिल्म फेस्टिवल में कैप्टन बिक्रम बत्रा के जीवन पर आधारित फिल्म शेरशाह, मनोज बाजपेयी अभिनीत फिल्म चिटगांग और थ्री इडीयट का प्रदर्शन किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें – वैश्विक मंच पर इमरान खान को भारत की खरी-खरी… ऐसे दी चेतावनी

आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत आयोजित फिल्म फेस्टिवल में केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि, सिनेमा सांस्कृतिक विविधता के विकास सबसे उत्तम माध्यम है। इसके अलावा डीड केंद्र लेह के कार्यक्रम का समय बढ़ाने की घोषणा भी उन्होंने की।

इस कार्यक्रम के आयोजकों में लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन, केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्रालय और स्वायत्त क्षेत्र लेह का समावेश है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here