हिमाचली संस्कृति को कनाडा में भी रखा है जीवित

कनाडा में भी हिमाचली संस्कृति बुलंद है। कनेडा में हिमाचल की संस्कृति फलफूल रही है और इस समृद्ध संस्कृति के सभी कायल है। यह बात हिमाचल कल्चर एसोसिएशन ऑफ कनाडा के अध्यक्ष दलीप कुमार ने प्रेस क्लब ऑफ कुल्लू में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि कनेडा में हिमाचल के लोगों ने एक संस्कृति संस्था का गठन किया है और यह संस्था कनेडा में हिमाचली संस्कृति को वहां पर प्रमोट कर रही है ताकि विदेशों में रह रहे बच्चे अपनी संस्कृति को भूल न पाए और उनको अपनी जड़ों का आभास होता रहे कि उनका मूल स्थान हिमाचल है।

उन्होंने कहा कि यह संस्था कनाडा में चार प्रमुख इवेंट करती है। जिसमें हिमाचल दिवस, इंडिया डे परेड , दिवाली व समर पिकनिक मनाई जाती है जिसमें हिमाचली संस्कृति झलकती है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा इस बार संस्था शायरी साजा भी मना रही है। उन्होंने कहा कि यह संस्था संस्कृति के अलावा कनेडा आ रहे नए बच्चों अन्य की पूरी मदद करती है। जिसमें गाइड करना,वहां की संस्कृति व नियमों के जानकारी देना व पीआर शिप की भी मुफ्त मदद करता है।

यह भी पढ़ें – उत्तर भारत में कोहरे के चलते यातायात प्रभावित, इस राज्य में रात में नहीं चलेंगी रोडवेज बसें

उन्होंने कहा कि इस संस्था को कनेडा सरकार से मान्यता दी है और कनाडा सरकार भी हिमाचल की संस्कृति से प्रभावित है। उन्होंने कहा कि जो भी सांस्कृतिक कार्यक्रम यहां होते हैं उन्हें हिमाचल के बच्चे स्वयं तैयार करते हैं। उन्होंने कहा कि जो भी हिमाचली यहां आना चाहता है वह बिना हिचक के आ सकता और हिम केन उनकी हर तरह की मदद करता है। उन्होंने कहा कि इस संस्था का मुख्य उद्देश्य विदेश में भी हिमाचल की संस्कृति को जिंदा रखना है और यह भी उद्देश्य है कि विदेश में रह रहे नागरिक अपनी संस्कृति को न भूलें। इसके बाद हिमाचल के संयोजक दीपक लठ ने भी वर्चुअल माध्यम से प्रेस को संबोधित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here