विघ्नहर्ता के मूर्तिकारों का दूर हुआ विघ्न! मनपा ने मान ली उनकी ‘वो’ मांग

मुंबई गणेश मूर्तिकार संघ ने परिमंडल दो के उपायुक्त हर्षद काले की अध्यक्षता में हुई एक बैठक में मांग की थी कि मंडप के निर्माण की अनुमति के लिए वसूला गया शुल्क और जमा राशि को माफ किया जाए।

देवों के देव गणेस के मूर्तिकारों के लिए अच्छी खबर है। मुुंबई महानगपालिका ने उनसे मंडप निर्माण हेतु लिए जाने वाली जमानत राशि और शुल्क वापस करने का निर्णय लिया है। गणेश चतुर्दशी से यह राशि उनके बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी।

दरअस्ल कोरोना महामारी के कारण जहां मुंबई महानगरपालिका द्वारा अन्य क्षेत्र के लोगों को तरह-तरह की छूट और सुविधाएं दी जा रही थीं, वहीं गणेश मूर्तिकारों से मंडप निर्माण के लिए शुल्क एवं जमानत राशि ली ली गई थी। लेकिन अब शुल्क और जमानत राशि को इस साल कोविड के कारण माफ कर दिया गया है। मनपा प्रशासन ने फीस और जमानत में पूरी छूट देने का निर्णय लिया है।

मांग मंजूर
मुंबई गणेश मूर्तिकार संघ ने 10 अगस्त, 2021 को परिमंडल दो के उपायुक्त हर्षद काले की अध्यक्षता में  हुई एक बैठक में मांग की थी कि मंडप के निर्माण की अनुमति के लिए शुल्क और जमा राशि को माफ किया जाए क्योंकि कोरोना के कारण गणेश मूर्तिकार वित्तीय संकट में हैं। बैठक में सार्वजनिक गणेशोत्सव समन्वय समिति, मुंबई गणेश मूर्तिकार संघ, अखिल सार्वजनिक गणेशोत्सव महासंघ के साथ-साथ मुंबई उपनगरीय श्री गणेशोत्सव समन्वय समिति के प्रतिनिधियों ने भाग लिया था। उपायुक्त काले ने मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल के पास इस बारे में प्रस्ताव प्रस्तुत किया था। अब आयुक्त ने उसे मंजूरी दे दी है।

ये भी पढ़ेंः आतंकी गिरफ्तारी प्रकरण: महाराष्ट्र एटीएस अब भी खाली हाथ? दिल्ली जाएगी मुंबई पुलिस

खाते में जमा होगी रकम
परिमंडल दो के उपायुक्त हर्षद काले ने एक सर्कुलर जारी कर कहा है कि बीएमसी द्वारा निर्णय लिए जाने के बाद मूर्तिकार के पंडाल के लिए विभागीय कार्यालय द्वारा लिया गया शुल्क और जमा राशि को वापस किया जाए। उनके इस सर्कुलर पर अमल करते हुए मनपा के विभागीय कार्यालय ने ये रकम वापस करने का निर्णय लिया है। उपायुक्त काले ने बताया कि गणेश चतुर्दशी तक ये राशि मूर्तिकारों के बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here