आज और अभी छोड़ें तंबाकू, नहीं तो बाद में पड़ेगा पछताना

तम्बाकू से प्रति वर्ष 8 लाख से अधिक लोगों की मृत्यु हो जाती है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान ”तम्बाकू सेवन को न कहकर हम स्वस्थ भारत की नींव रख सकते हैं” से प्रेरित होकर हेल्प यू एजुकेशनल एंड चौरिटेबल ट्रस्ट ने विश्व तम्बाकू निषेध दिवस के अवसर पर ट्रस्ट के इंदिरा नगर ,सेक्टर-25,, कार्यालय में ऑनलाइन विचारगोष्ठी आयोजित की। गोष्ठी का विषय ”तम्बाकू हमें और हमारे घर, परिवार, समाज को मार रहा है‘ था।

गोष्ठी में वरिष्ठ पल्मोनरी चिकित्सक प्रो. (डॉ) राजेन्द्र प्रसाद ने तम्बाकू से स्वास्थ्य पर होने वाले हानिकारक प्रभावों के बारे में बताते हुए कहा कि, प्रति वर्ष 31 मई को धूम्रपान से होने वाले नुकसान के बारे में जागरूक करने के लिए विश्व तम्बाकू निषेध दिवस मनाया जाता है।

प्रति वर्ष 8 लाख से अधिक लोगों की मृत्यु
तम्बाकू से प्रति वर्ष 8 लाख से अधिक लोगों की मृत्यु हो जाती है। इनमें से 7 लाख से अधिक व्यक्तियों की मृत्यु तम्बाकू का सेवन करने व तकरीबन 1.2 लाख लोग तम्बाकू सेवन करने वाले लोगों के सम्पर्क में आकर मौत का शिकार हो जाते हैं। इसके अलावा साहित्यकार महेंद्र भीष्म व डॉ रूपल अग्रवाल, सहितअ अन्य वक्ताओं ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here